http://feeds.feedburner.com/blogspot/GKoTZ
Showing posts with label कबहुँ न साथ छूटे हमरा बलम के. Show all posts
Showing posts with label कबहुँ न साथ छूटे हमरा बलम के. Show all posts

16.9.17

कबहुँ न साथ छूटे हमरा बलम के




सात फेरा होला सातो जनम के
कबहुँ न साथ छूटे हमरा बलम के
करिले पुजनवा तोहार हे भोलेबाबा
रखिये सेन्हूरवा के लाज
हे भोलेबाबा रखिये सेन्हूरवा के लाज

आपके भरोसे व्रत हमने उठाया
फल बेल पत्री से थाल है सजाया
महिमा है आपकी अपार हे भोलेबाबा
देदो मुझे पिया जी का प्यार
हे भोलेबाबा देदो मुझे पिया जी का प्यार

आवेना बलमुआ पे कउनो बलैया
जिनगी बितायी ओनके चरनन के छैया

हाथ जोड़ शिव नाम जपु मैं तुम्हारी
दूर हमसे ना होना कभी पिया जी हमारे

पिया से बा सोरहो सिंगार हे भोलेबाबा
रखिये सेन्हूरवा के लाज

उनपे है मेरा अधिकार हे भोलेबाबा
देदो मुझे पिया जी का प्यार


सांस दूर होना जैसे कभी धड़कन से
वैसे ना कभी दूरी होए सजन से

कउनो कसूर नाही कइली कसम से
का जाने काहे पिया रुसल बाड़े हमसे

जुदा उनसे जीवन का तार हे भोलेबाबा
देदो मुझे पिया जी का प्यार

पिया बाड़े जिए के आधार हे भोलेबाबा
रखिये सेन्हूरवा के लाज

जय गौरीपत जय शिवशंकर जय जय हे जगदीश
हम तोहार उपकार ना भूली सदा नवाई शीश
एक बिरहन के बिनती सुनला देइ बहुत आशीष
होइ शिव के जोड़ा जिए जग में लाखो बरीश
ये सुहागिन के मथवा पे हक़ धरदा
भोला तीज के बरतिया सफल करदा
जियरा में असरा के दियना जरवनी
दुख्यारिन के दुःख हरदा
दुःख हर दा , दुःख हर दा
भोला तीज के बरतिया सफल करदा