http://feeds.feedburner.com/blogspot/GKoTZ

किसको मैं दर्द कहूँ मैया तेरे जैसा कोई हमदर्द नहीं



किसको मैं दर्द कहूँ मैया तेरे जैसा कोई हमदर्द नहीं
जिस को तू ठीक न कर सकती ऐसा तो कोई मर्ज नहीं
किसको मैं दर्द कहु मैया तेरे जैसा कोई हमदर्द नहीं

माँ काली काल के पंजे से बच्चों को अपने बचाती है
कभी कोई कष्ट ना जाए  रक्षा करती हर दम सब की

जिस को तू ठीक न कर सकती ऐसा तो कोई मर्ज नहीं
किसको मैं दर्द कहु मैया तेरे जैसा कोई हमदर्द नहीं

माँ दुर्गा अपने बच्चों  हरती है
धन दौलत सब कुछ दे कर के झोली भरती  हो माँ सबकी

जिस को तू ठीक न कर सकती ऐसा तो कोई मर्ज नहीं
किसको मैं दर्द कहु मैया तेरे जैसा कोई हमदर्द नहीं


इतनी शक्ति हमें देना दाता


इतनी शक्ति हमें देना - Itni Shakti Hamein Dena (Pushpa, Sushma, Ankush)

Movie/Album: अंकुश (1986)
Music By: कुलदीप सिंह
Lyrics By: अभिलाष
Performed By: पुष्पा पागधरे, सुषमा श्रेष्ठ




इतनी शक्ति हमें देना दाता
मन का विश्वास कमज़ोर हो ना
हम चले नेक रस्ते पे हमसे
भूलकर भी कोई भूल हो ना
इतनी शक्ति हमें देना दाता...

दूर अज्ञान के हो अंधेरे
तू हमें ज्ञान की रोशनी दे
हर बुराई से बचते रहें हम
जितनी भी दे भली ज़िन्दगी दे
बैर हो ना किसी का किसी से
भावना मन में बदले की हो ना
हम चले नेक रस्ते...

हम ना सोचें हमें क्या मिला है
हम ये सोचे किया क्या है अर्पण
फूल खुशियों के बाँटे सभी को
सबका जीवन ही बन जाए मधुबन
अपनी करुणा का जल तू बहा के
कर दे पावन हर एक मन का कोना
हम चले नेक रस्ते...

पुरुष ग्रंथि (प्रोस्टेट) बढ़ने से मूत्र - बाधा का अचूक इलाज 

*किडनी फेल(गुर्दे खराब ) रोग की जानकारी और उपचार*

गठिया ,घुटनों का दर्द,कमर दर्द ,सायटिका के अचूक उपचार 

गुर्दे की पथरी कितनी भी बड़ी हो ,अचूक हर्बल औषधि




बोलो माँ के जयकारे, मिट जाये संकट सारे



Bolo Maa ke jaikare

Lyrics:बोलो माँ के जयकारे


बोलो माँ के जयकारे, मिट जाये संकट सारे
मिट जाये संकट सारे, भर देगी माँ भंडारे

भर देगी माँ भंडारे, कर देगी वारे न्यारे
कर देगी वारे न्यारे, तुम बोलो रे जयकारे

तुम बोलो रे जयकारे, पहुचेंगे माँ के द्वारे
पहुचेंगे माँ के द्वारे, माँ बैठी राह निहारे

माँ बैठी राह निहारे, बैठी है खोल भंडारे
जो बोलेगा जयकारे, माँ उसके भाग सँवारे

ऊँचे पहाड़ो डेरा माँ का,
पथरीली और कठिन चढाई
मंजिल कट जायेगी यूँही.
मिल कर जयकारे बोलो रे भाई
मिल कर जयकारे बोलो रे भाई

जिसने गाया उसने पाया
जिसने नाम की धुनी लगाई
उसके सब संकट हरती है
पल भर में वैष्णो महामाई
पल भर में वैष्णो महामाई

जरा प्रेम से बोलो, जय माता दी
जरा जोर से बोलो, जय माता दी
अरे मिल के बोलो, जय माता दी
भाई दिल से बोलो, जय माता दी

माँ पार उतारे, जय माता दी
माँ कष्ट निवारे, जय माता दी

मोल ना लगता, जय माता दी
होठो पर सजता, जय माता दी
अरे ताली बजा के, जय माता दी
जरा शीश झुका के, जय माता दी

आते जाते, जय माता दी
तुम करो न बाते, जय माता दी
अरे बोल रे भक्ता, जय माता दी
तेरा कुछ नहीं घटता, जय माता दी

अरे आगे वालो, जय माता दी
पीछे वालो, जय माता दी

माँ शेरा वाली, जय माता दी
माँ मेहरा वाली, जय माता दी
माँ अष्टभुजी है, जय माता दी
क्या खूब सजी है, जय माता दी


माँ आदि भवानी, जय माता दी
माँ जग कल्याणी, जय माता दी
है शेर सवारी, जय माता दी
लगती बड़ी प्यारी, जय माता दी

माँ चक्र धरनी, जय माता दी
कष्ट हारिनी, जय माता दी
सबकी रखवाली, जय माता दी

माँ भोली भली, जय माता दी
माँ वैष्णव रानी, जय माता दी
अम्बे महारानी, जय माता दी

मा देके दर्शन, जय माता दी
कर देगी पावन, जय माता दी

बोलो माँ के जयकारे, मिट जाये संकट सरे
मिट जाये संकट सारे, भर देगी माँ भंडारे

भर देगी माँ भंडारे, कर देगी वारे न्यारे
कर देगी वारे न्यारे, तुम बोलो रे जयकारे

अरे बोलो जय जयकारे, पहुचेंगे माँ के द्वारे
पहुचेंगे माँ के द्वारे, माँ बैठी राह निहारे

माँ बैठी राह निहारे, बैठी है खोल भंडारे
जो बोलेगा जयकारे, माँ उसके भाग सँवारे

ये हाथी मत्था, जय माता दी
भक्तो का जत्था, जय माता दी
लो भवन आ गया, जय माता दी
अब कमी रही क्या, जय माता दी

यहाँ खुल्ले दर्शन, जय माता दी
करते है सब जन, जय माता दी
तुम दर्शन कर लो, जय माता दी
झोली भर लो, जय माता दी

इस गुफा के अन्दर, जय माता दी
बड़ा सोना मंदिर, जय माता दी
है अजब नज़ारा, जय माता दी
है स्वर्ग से प्यारा, जय माता दी

ये तीन पिंडिया, जय माता दी
है तीन शक्तिया, जय माता दी
फिर अंतिम दर्शन, जय माता दी
नयनो का वंदन, जय माता दी

देखो माँ का पवन धाम,
की बनते सब के बिगड़े काम
देखो माँ का पवन धाम,
हां बनते सब के बिगड़े काम
देखो माँ का पवन धाम

पित्त पथरी (gallstone) के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार 

किडनी निष्क्रियता की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि



--

--

नदी किनारे खड़ा है पगले, फिर भी तू है प्यासा



Nadi kinare khada hai pagle

Lyrics: नदी किनारे खड़ा है पगले

नदी किनारे खड़ा है पगले, फिर भी तू है प्यासा
हरी का नाम तो पास है बंदे, फिर क्यूँ छ्चोड़े आशा

इस जग की नदिया में देखो, प्रभु का जल है प्यारा
छल छल कल कल निर्मल है जल, प्रभु सुमिरन की धारा
जीवन की गति आइसो है, जस जल में पड़े बताशा
हरी का नाम तो पास है बंदे, फिर क्यू छ्चोड़े आशा
नदी किनारे खड़ा है पगले, फिर भी तू है प्यासा
हरी का नाम तो पास है बंदे, फिर क्यूँ छ्चोड़े आशा
हरी का नाम तो पास है बंदे, फिर क्यू छ्चोड़े आशा
नदी किनारे खड़ा है पगले, फिर भी तू है प्यासा
हरी का नाम तो पास है बंदे, फिर क्यूँ छ्चोड़े आशा

जल दर्पण तू देख ले मुख को, प्रभु जल ही तंन धोता
निर्मल टन मॅन हो जावयए रे, रोज लगा ले गोता
श्याम दस हरी जल का प्यासा, जीवन टोला मासा

हरी का नाम तो पास है बंदे, फिर क्यू छ्चोड़े आशा
नदी किनारे खड़ा है पगले, फिर भी तू है प्यासा
हरी का नाम तो पास है बंदे, फिर क्यूँ छ्चोड़े आशा

नदी किनारे खड़ा है पगले, फिर भी तू है प्यासा
हरी का नाम तो पास है बंदे, फिर क्यूँ छ्चोड़े आशा
नदी किनारे खड़ा है पगले, फिर भी तू है प्यासा

हरी का नाम तो पास है बंदे, फिर क्यूँ छ्चोड़े आशा

पित्त पथरी (gallstone) के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार 

किडनी निष्क्रियता की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि



-- --

शिव भोला भंडारी/ Arijit singh Bhajan

Shiv Bhola Bhandari

Lyrics:शिव भोला भंडारी


भोला भंडारी, सांई भोला भंडारी
भोला भंडारी, सांई भोला भंडारी

शिव भोला… शिव भोला…

शिव भोला भंडारी, साधु भोला भंडारी
सांई भोला भंडारी, शिव भोला भंडारी

भस्मासुर ने करी तपस्या
वर दे ना त्रिपुरारी
जिसके सिर पर हाथ लगावे
भस्म हुये तन सारी

शिव भोला… शिव भोला…

शिव भोला भंडारी, साधु भोला भंडारी,
सांई भोला भंडारी, शिव भोला भंडारी

शिव के सिर पर हाथ धरन की
मन में दुष्ट विचारी
भागे फिरत चहू दिस शंकर
लगा दैत्य दर भारी


गिरिजा रुप धर हरी हर बोले
बात असुर से प्यारी
जो तू मुझको नाच सिखावे
होऊ नार तुम्हारी

शिव भोला… शिव भोला…

शिव भोला भंडारी, साधु भोला भंडारी,
सांई भोला भंडारी, शिव भोला भंडारी

नाच करत अपने सिर कर धर
भस्म गयो मती मारी
ब्रहृमनन्द दे दे जोई कोई माँगे
शिव भक्तन हितकारी

शिव भोला.. शिव भोला…

शिव भोला भंडारी, साधु भोला भंडारी,
सांई भोला भंडारी, शिव भोला भंडारी

शिव भोला भंडारी, सांई भोला भंडारी
शिव भोला भंडारी, सांई भोला भंडारी

शिव भोला… शिव भोला….

शिव भोला भंडारी,
शिव भोला भंडारी, सांई भोला भंडारी
शिव भोला भंडारी, सांई भोला भंडारी

पित्त पथरी (gallstone) के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार 

किडनी निष्क्रियता की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि



--

अधरं मधुरं वदनं मधुरं नयनं मधुरं हसितं मधुरं .



अधरं मधुरं वदनं मधुरं नयनं मधुरं हसितं मधुरं .

हृदयं मधुरं गमनं मधुरं मधुराधिपतेरखिलं मधुरं .



वचनं मधुरं चरितं मधुरं वसनं मधुरं वलितं मधुरं .

चलितं मधुरं भ्रमितं मधुरं मधुराधिपतेरखिलं मधुरं .



वेणुर्मधुरो रेणुर्मधुरः पाणिर्मधुरः पादौ मधुरौ .

नृत्यं मधुरं सख्यं मधुरं मधुराधिपतेरखिलं मधुरं .



गीतं मधुरं पीतं मधुरं भुक्तं मधुरं सुप्तं मधुरं .

रूपं मधुरं तिलकं मधुरं मधुराधिपतेरखिलं मधुरं .





करणं मधुरं तरणं मधुरं हरणं मधुरं स्मरणं मधुरं .

वमितं मधुरं शमितं मधुरं मधुराधिपतेरखिलं मधुरं .



गुंजा मधुरा माला मधुरा यमुना मधुरा वीची मधुरा .

सलिलं मधुरं कमलं मधुरं मधुराधिपतेरखिलं मधुरं .



गोपी मधुरा लीला मधुरा युक्तं मधुरं मुक्तं मधुरं .

दृष्टं मधुरं शिष्टं मधुरं मधुराधिपतेरखिलं मधुरं .



गोपा मधुरा गावो मधुरा यष्टिर्मधुरा सृष्टिर्मधुरा .

दलितं मधुरं फलितं मधुरं मधुराधिपतेरखिलं मधुरं .


पित्त पथरी (gallstone) के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार 

किडनी निष्क्रियता की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि








जय गणपति वंदन गणनायक



जय गणपति वंदन गणनायक
तेरी छवि अति सुंदर
सुखदायक

तू चारभुजाधारी मस्तक
सिंदूरी रूप निराला
है मूषक वाहन तेरो तू ही
जग का रखवाला
तेरी सुंदर मूरत मन में
तू पालक सिद्ध विनायक
||१||

मन मंदिर का अंधियारा
तेरो नाम से हो उजियारा
तेरे नाम की ज्योति जले
तो मन में बहती सुखधारा
तेरो सुमिरन हर पूजन
में, सबसे पहेले फलदायक
||२||

तेरे नाम को जिसने
ध्याया, उस पर रहती सुख
छाया
मेरे रोम -रोम अंतर में
एक तेरा रूप समाया
तेरी महिमा तू ही जाने,
शिव पार्वती के बालक ||३||


पित्त पथरी (gallstone) के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार 

किडनी निष्क्रियता की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि



मैली चादर ओढ़ के कैसे



मैली चादर ओढ़ के कैसे,
द्वार तुम्हारे आऊँ।

मैली चादर ओढ़ के कैसे,
द्वार तुम्हारे आऊँ।

हे पावन परमेश्वर मेरे,
मन ही मन शरमाऊँ॥

मैली चादर ओढ़ के कैसे,
द्वार तुम्हारे आऊँ।

मैली चादर ओढ़ के कैसे
तूमने मुझको जग में
भेजा,

निर्मल देकर काया।
आकर के संसार में मैंने,

इसको दाग लगाया।
जनम् जनम् की मैली चादर,

कैसे दाग छुड़ाऊं॥
मैली चादर ओढ़ के कैसे,

द्वार तुम्हारे आऊँ।
मैली चादर ओढ़ के कैसे...
निर्मल वाणी पाकर
तुझसे,

नाम न तेरा गाया।
नैन मूंदकर हे
परमेश्वर,

कभी ना तुझको. ध्याया।
मन वीणा की तारें टूटी,

अब क्या गीत सुनाऊँ॥
मैली चादर ओढ़ के कैसे,

द्वार तुम्हारे आऊँ।
मैली चादर ओढ़ के कैसे...
इन पैरों से चल कर तेरे,

मंदिर कभी न आया।
जहां जहां हो पूजा तेरी,
कभी ना शीश झुकाया।
हे हरिहर मैं हार के आया,
अब क्या हार चढाऊँ
मैली चादर ओढ़ के कैसे,
द्वार तुम्हारे आऊँ।
मैली चादर ओढ़ के कैसे
द्वार तुम्हारे आऊँ।।
हे पावन परमेश्वर मेरे,
मन ही मन ध्याऊं।
मैली चादर ओढ़ के कैसे,
मैली चादर ओढ़ के कैसे।


पित्त पथरी (gallstone) के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार 

किडनी निष्क्रियता की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि



राधिका गोरी से, बिरज की छोरी से


राधिका गोरी से, बिरज की
छोरी से
मैया करादे मेरो ब्याह
(राधिका गोरी से, बिरज की
छोरी से)
(मैया करादे मेरो ब्याह)
अरे ये बंधन है प्यार का

उमर तेरी छोटी है, नजर
तेरी खोटी है
कैसे करा दु तेरो ब्याह
(उमर तेरी छोटी है, नजर
तेरी खोटी है)
(कैसे करा दु तेरो ब्याह)
अरे ये बंधन है प्यार का

राधिका गोरी से, बिरज की
छोरी से
मैया करादे मेरो ब्याह

जो नही ब्याह करावे
तेरी गैया नाही चराऊ
(जो नही ब्याह कराये
तेरी गैया नाही चराऊ)
आज के बाद ओ मैया तेरी
देहरी पर नहीं आऊ
आयेगा रे मजा, रे मजा अब
जीत हार का

राधिका गोरी से, बिरज की
छोरी से
मैया करादे मेरो ब्याह
उमर तेरी छोटी है, नजर
तेरी खोटी है
कैसे करा दु तेरो ब्याह

चंदन की चौकी पर मैया
तुज को बैठाऊं
(चंदन की चौकी पर मैया
तुज को बैठाऊं)
अपनी राधिका से मै चरण
त्तोरे दबवाऊं
भोजन मै बनवाऊँगा,
बनवाऊँगा छत्तीस
प्रकार का

राधिका गोरी से, बिरज की
छोरी से
मैया करादे मेरो ब्याह
उमर तेरी छोटी है, नजर
तेरी खोटी है
कैसे करा दु तेरो ब्याह

छोटी सी दुल्हनिया जब
अंगना में डोलेगी
(छोटी सी दुल्हनिया जब
अंगना में डोलेगी)
तेरे सामने मैया वो
घूँघट ना खोलेगी
दाऊ से जा कहो, जा कहो
बैठेंगे द्वार पे

राधिका गोरी से, बिरज की
छोरी से
मैया करादे मेरो ब्याह
(राधिका गोरी से, बिरज की
छोरी से)
(मैया करादे मेरो ब्याह)



पित्त पथरी (gallstone) के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार 

किडनी निष्क्रियता की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि



मैंने जो देखा श्याम को दीवाना हो गया,



मैंने जो देखा श्याम को दीवाना हो गया,

मुरली की तन सुन के मैं मस्ताना हो गया,

मैंने जो देखा श्याम को दीवाना हो गया,

एह सँवारे सलोने तेरी अदा पे मैं,

तेरे हुसन का दीवाना मस्ताना हो गया,

मैंने जो देखा श्याम को दीवाना हो गया,

दिल में सलोनी संवरी सूरत समा गई,

होठो पे श्याम नाम का अफसाना हो गया,

मैंने जो देखा श्याम को दीवाना हो गया,

प्यारी छवि निहार के पागल ही हो गया,

दुनिया को भूल बैठा हु बेगाना हो गया

मैंने जो देखा श्याम को दीवाना हो गया,


किडनी फेल (गुर्दे खराब) की अमृत औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि 

आर्थराइटिस(संधिवात)के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार



मेरे बाँके बिहारी पिया चुरा दिल मेरा लिया


मेरे बाँके बिहारी पिया चुरा दिल मेरा लिया॥

मस्ती में एसी खोई प्रेम दीवानी मीरा होई,
तेरे प्रेम की ना है थाह चुरा दिल मेरा लिया,
मेरे बाँके बिहारी पिया.........

श्री हरिदास के प्रानन प्यारे,
सूरदास की नेनो के तारे
हाय तूने मुझे क्या दिया चुरा दिल मेरा लिया,
मेरे बाँके बिहारी पिया.........

बैंक की झांकी अजब आदाकी,
प्रेम निधी दर्शन की पियासी ,
हाई कैसा ये दर्शन तुम चुरा दिल मेरा लिया,
मेरे बाँके बिहारी पिया........


किडनी फेल (गुर्दे खराब) की अमृत औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि 

आर्थराइटिस(संधिवात)के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार




छू ले जो मा की चौखट को, तो ज़र्रा भी सितारा हो जाए,दुर्गा भजन



छू ले जो मा की चौखट को, तो ज़र्रा भी सितारा हो जाए,
जहा ज़िक्र हो मा का मंगल हो,जन्नत का नज़ारा हो जाए
मैया के दर पर हर एक शक्ति आकर के शीश झुकती है
सारी दुनिया मा के दर्र पे लाखा कष्तो से मुक्ति पति है

सिर को झुका लो, शेरवाली को मना लो
सिर को झुका लो, शेरवाली को मना लो
सिर को झुका लो, शेरवाली को मना लो
चलो दर्शन पाओ मा के, करती मेहेरबानिया
सिर को झुका लो, शेरवाली को मना लो
सिर को झुका लो, शेरवाली को मना लो
सिर को झुका लो, शेरवाली को मना लो
चलो दर्शन पाओ मा के, करती मेहेरबानिया
करती मेहेरबानिया, करती मेहेरबानिया

हो गुफा के अंदर मंदिर के अंदर
हो गुफा के अंदर मंदिर के अंदर
मा की ज्योता है नूरानिया
मा की ज्योता है नूरानिया
सिर को झुका लो, शेरवाली को मना लो
चलो दर्शन पाओ मा के, करती मेहेरबानिया
करती मेहेरबानिया, करती मेहेरबानिया

मैया की लीला कैसा पर्वत है नीला
मैया की लीला कैसा पर्वत है नीला
मेरी मैया की लीला कैसा पर्वत है नीला
कर्दे शेर च्चबीला ओह रंग जिसका है पीला
कर्दे शेर च्चबीला ओह रंग जिसका है पीला
कठिन चढ़ाइया मा सीढ़िया लाया
कठिन चढ़ाइया मा सीढ़िया लाया
ये है मैया की निशानिया
सिर को झुका लो, शेरवाली को मना लो
चलो दर्शन पाओ मा के, करती मेहेरबानिया
करती मेहेरबानिया, करती मेहेरबानिया

कोढ़ी को काया देवे निराधान को माया
कोढ़ी को काया देवे निराधान को माया
करती आँचल की च्चाया भिखारी बनके जो आया
करती आँचल की च्चाया भिखारी बनके जो आया
मा के द्वारे माइट संकट सारे
मिट जाए परेशानिया, मिट जाए परेशानिया
सिर को झुका लो, शेरवाली को मना लो
चलो दर्शन पाओ मा के, करती मेहेरबानिया
करती मेहेरबानिया, करती मेहेरबानिया

सिर को झुका लो, शेरवाली को मना लो
सिर को झुका लो, शेरवाली को मना लो
सिर को झुका लो, शेरवाली को मना लो
चलो दर्शन पाओ मा के, करती मेहेरबानिया
सिर को झुका लो, शेरवाली को मना लो
सिर को झुका लो, शेरवाली को मना लो
सिर को झुका लो, शेरवाली को मना लो
चलो दर्शन पाओ मा के, करती मेहेरबानिया
करती मेहेरबानिया, करती मेहेरबानिया ||


किडनी फेल (गुर्दे खराब) की अमृत औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि 

आर्थराइटिस(संधिवात)के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार




झूठे रिश्ते सारे झूठा परिवार माता,दुर्गा भजन




झूठे रिश्ते सारे झूठा परिवार माता

सब मतलब दे साथी इथे कोई ना मेरा है
जो साथ निभावे गा तेरे बिन केह्दा है
घरजा दे नाल करदे लोकी प्यार माता
तेरे बिन झूठा है ए संसार माता…….

इथे विषय विकारा दे बड़े चमेले ने
सब मोह माया दे पाए लगदे मेले ने
सुख मिलदा एक मिलदे दुःख हज़ार माता
तेरे बिन झूठा है ए संसार माता….

इथे हर कोई समजे खुद नु सयाना है
तेरी जाने ना भगती हरबंस निमना है
फड सोनू दी वी बाह ना विसार माता
तेरे बिन झूठा है ए संसार माता ||

तेरे बिन झूठा है ए संसार माता
झूठे रिश्ते सारे झूठा परिवार माता ||


किडनी फेल (गुर्दे खराब) की अमृत औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि 

आर्थराइटिस(संधिवात)के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार


निकल न जाए हाथ से तेरे मौका ये अनमोल-दुर्गा भजन



निकल न जाए हाथ से तेरे मौका ये अनमोल
जय माता दी बोल बंदे जय माता दी बोल

आके देख ले सजा दरबार अम्बे रानी का
सुख वरदानी का जग कल्याणी का
देती छप्पर फाड़ के मैया झोली ले तू खोल
जय माता दी बोल बंदे जय माता दी बोल

कौन जाने कब नसीबा बदल जायेगा
जो नहीं था सोचा वो भी मिल जायेगा
करती चमत्कार मैया आँखे बंद खोल
जय माता दी बोल बंदे जय माता दी बोल

निकल न जाए हाथ से तेरे मौका ये अनमोल
जय माता दी बोल बंदे जय माता दी बोल ||

बोल साचे दरबार की जय |


किडनी फेल (गुर्दे खराब) की अमृत औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि 

आर्थराइटिस(संधिवात)के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार



जयकारा… शेरोवाली का//Durga bhajan



जयकारा… शेरोवाली का
बोलो साचे दरबार की जय

दुर्गा है मेरी माँ, अम्बे है मेरी माँ
दुर्गा है मेरी माँ, अम्बे है मेरी माँ

बोलो जय माता दी, जय हो
बोलो जय माता दी, जय हो
जो भी दर पे आए, जय हो
वो खाली न जाए, जय हो
सबके काम है करती, जय हो
सबके दुख ये हरती, जय हो

मैया शेरोवाली, जय हो
भरदो झोली खाली, जय हो
मैया शेरोवाली, जय हो
भरदो झोली खाली, जय हो

दुर्गा है मेरी माँ, अम्बे है मेरी माँ
दुर्गा है मेरी माँ, अम्बे है मेरी माँ
मेरी माँ…., शेरोवालिये

पूरे करे अरमान जो सारे,
पूरे करे अरमान जो सारे,
देती है वरदान जो सारे
देती है वरदान जो सारे
दुर्गे………ज्योतावालिये
देती है वरदान जो सारे
दुर्गा है मेरी माँ अम्बे है मेरी माँ

सारे जग को खेल खिलाये
सारे जग को खेल खिलाये
बिछड़ो को जो खूब मिलाये
बिछड़ो को जो खूब मिलाये
दुर्गे……….शेरोवालिये
बिछड़ो को जो खूब मिलाये
दुर्गा है मेरी माँ अम्बे है मेरी माँ

दुर्गा है मेरी माँ, अम्बे है मेरी माँ
दुर्गा है मेरी माँ, अम्बे है मेरी माँ
शेरोवालिये…ज्योतावालिये….
शेरोवालिये…



शरण तेरी आऊँ माँ//Durga bhajan



शरण तेरी आऊँ माँ
हाँ बलि बलि जाऊँ माँ
भजन तेरे गाऊँ माँ
मगन हो जाऊँ माँ
शरण तेरी आऊँ माँ
हाँ बलि बलि जाऊँ माँ ||

ऊँचे भवन पर बैठी
अम्बे के भवानी माँ
जिनके दरश की है ये
दुनिया दीवानी माँ
दरश तेरे पाऊँ माँ
हाँ बलि बलि जाऊँ माँ
भजन तेरे गाऊँ माँ
मगन हो जाऊँ माँ
शरण तेरी आऊँ माँ
हाँ बलि बलि जाऊँ माँ ||

भीड़ लगी रहती है
माँ तुम्हारे द्वारे
आते जाते गूंजते है
तेरे माँ जयकारे
जयकारा लगाऊँ माँ
हाँ बलि बलि जाऊँ माँ
भजन तेरे गाऊँ माँ
मगन हो जाऊँ माँ
शरण तेरी आऊँ माँ
हाँ बलि बलि जाऊँ माँ ||

लाल पट्टी बांधे सर पे
आ रही है टोलियाँ
ला रहे मुरादो वाली
भर भर के झोलियाँ
ये अर्जी सुनाऊ माँ
हाँ बलि बलि जाऊँ माँ
भजन तेरे गाऊँ माँ
मगन हो जाऊँ माँ
शरण तेरी आऊँ माँ
हाँ बलि बलि जाऊँ माँ ||

बेनाम जग के ये रूठे
माँ कभी ना रूठे
आदि शक्ति जग जननी का
दर कभी ना छूटे
यही रम जाऊँ माँ
हाँ बलि बलि जाऊँ माँ
भजन तेरे गाऊँ माँ
मगन हो जाऊँ माँ
शरण तेरी आऊँ माँ
हाँ बलि बलि जाऊँ माँ ||

शरण तेरी आऊँ माँ
हाँ बलि बलि जाऊँ माँ
भजन तेरे गाऊँ माँ
मगन हो जाऊँ माँ
शरण तेरी आऊँ माँ
हाँ बलि बलि जाऊँ माँ ||


किडनी फेल (गुर्दे खराब) की अमृत औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि 

आर्थराइटिस(संधिवात)के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार


सूरदास के पद हिन्दी अर्थ सहित

चरन कमल बंदौ हरि राई।
जाकी कृपा पंगु गिरि लंघै आंधर कों सब कछु दरसाई॥
बहिरो सुनै मूक पुनि बोलै रंक चले सिर छत्र धराई।
सूरदास स्वामी करुनामय बार.बार बंदौं तेहि पाई॥

अर्थ- श्रीकृष्ण की कृपा होने पर लंगड़ा व्यक्ति भी पर्वत को लाँघ लेता हैए अन्धे को सबकुछ दिखाई देने लगता हैए बहरा व्यक्ति सुनने लगता हैए गूंगा बोलने लगता हैए और गरीब व्यक्ति भी अमीर हो जाता है। ऐसे दयालु श्रीकृष्ण की चरण वन्दना कौन नहीं करेगा।


अबिगत गति कछु कहति न आवै।
ज्यों गूंगो मीठे फल की रस अन्तर्गत ही भावै॥
परम स्वादु सबहीं जु निरन्तर अमित तोष उपजावै।
मन बानी कों अगम अगोचर सो जाने जो पावै॥
रूप रैख गुन जाति जुगति बिनु निरालंब मन चकृत धावै।
सब बिधि अगम बिचारहिं तातों सूर सगुन लीला पद गावै॥

अर्थ- यहाँ अव्यक्त उपासना को मनुष्य के लिए कठिन बताया है। निराकार ब्रह्म का चिंतन अनिर्वचनीय है। वह मन और वाणी का विषय नहीं है। ठीक उसी प्रकार जैसे किसी गूंगे को मिठाई खिला दी जाय और उससे उसका स्वाद पूछा जाएए तो वह मिठाई का स्वाद नहीं बता सकता है। उस मिठाई के रस का आनंद तो उसका अंतर्मन हीं जानता है। निराकार ब्रह्म का न रूप हैए न गुण। इसलिए मन वहाँ स्थिर नहीं हो सकता हैए सभी तरह से वह अगम्य है। इसलिए सूरदास सगुण ब्रह्म अर्थात श्रीकृष्ण की लीला का ही गायन करना उचित समझते हैं।


अब कै माधव मोहिं उधारि।
मगन हौं भाव अम्बुनिधि में कृपासिन्धु मुरारि॥
नीर अति गंभीर माया लोभ लहरि तरंग।
लियें जात अगाध जल में गहे ग्राह अनंग॥
मीन इन्द्रिय अतिहि काटति मोट अघ सिर भार।
पग न इत उत धरन पावत उरझि मोह सिबार॥
काम क्रोध समेत तृष्ना पवन अति झकझोर।
नाहिं चितवत देत तियसुत नाम.नौका ओर॥
थक्यौ बीच बेहाल बिह्वल सुनहु करुनामूल।
स्याम भुज गहि काढ़ि डारहु सूर ब्रज के कूल॥

अर्थ- संसार रूपी सागर में माया रूपी जल भरा हुआ हैए लालच की लहरें हैंए काम वासना रूपी मगरमच्छ हैए इन्द्रियाँ मछलियाँ हैं और इस जीवन के सिर पर पापों की गठरी रखी हुई है। इस समुद्र में मोह सवार है। काम.क्रोध आदि की वायु झकझोर रही है। तब एक हरि नाम की नाव हीं पार लगा सकती है। स्त्री और बेटों का माया.मोह इधर.उधर देखने हीं नहीं देता। भगवान हीं हाथ पकड़कर हमारा बेड़ा पार कर सकते हैं।


मोहिं प्रभु तुमसों होड़ परी।
ना जानौं करिहौ जु कहा तुम नागर नवल हरी॥
पतित समूहनि उद्धरिबै कों तुम अब जक पकरी।
मैं तो राजिवनैननि दुरि गयो पाप पहार दरी॥
एक अधार साधु संगति कौ रचि पचि के संचरी।
भ न सोचि सोचि जिय राखी अपनी धरनि धरी॥
मेरी मुकति बिचारत हौ प्रभु पूंछत पहर घरी।
स्रम तैं तुम्हें पसीना ऐहैं कत यह जकनि करी॥
सूरदास बिनती कहा बिनवै दोषहिं देह भरी।
अपनो बिरद संभारहुगै तब यामें सब निनुरी॥

अर्थ- हे प्रभुए मैंने तुमसे एक होड़ लगा ली है। तुम्हारा नाम पापियों का उद्धार करने वाला हैए लेकिन मुझे इस पर विश्वास नहीं है। आज मैं यह देखने आया हूँ कि तुम कहाँ तक पापियों का उद्धार करते हो। तुमने उद्धार करने का हठ पकड़ रखा है तो मैंने पाप करने का सत्याग्रह कर रखा है। इस बाजी में देखना है कौन जीतता है। मैं तुम्हारे कमलदल जैसे नेत्रों से बचकरए पाप.पहाड़ की गुफा में छिपकर बैठ गया हूँ।


मैया मोहि दाऊ बहुत खिझायौ।
मोसौं कहत मोल कौ लीन्हौ, तू जसुमति कब जायौ||
कहा करौं इहि के मारें खेलन हौं नहि जात।
पुनि-पुनि कहत कौन है माता, को है तेरौ तात||
गोरे नन्द जसोदा गोरी तू कत स्यामल गात।
चुटकी दै-दै ग्वाल नचावत हँसत-सबै मुसकात।|
तू मोहीं को मारन सीखी दाउहिं कबहुँ न खीझै।
मोहन मुख रिस की ये बातैं, जसुमति सुनि-सुनि रीझै।|
सुनहु कान्ह बलभद्र चबाई, जनमत ही कौ धूत।
सूर स्याम मौहिं गोधन की सौं, हौं माता तो पूत॥

अर्थ- बालक श्रीकृष्ण मैया यशोदा से कहते हैंए कि बलराम भैया मुझे बहुत चिढ़ाते हैं। वे कहते हैं कि तुमने मुझे दाम देकर खरीदा हैए तुमने मुझे जन्म नहीं दिया है। इसलिए मैं उनके साथ खेलने नहीं जाता हूँए वे बार.बार मुझसे पूछते हैं कि तुम्हारे माता.पिता कौन हैं। नन्द बाबा और मैया यशोदा दोनों गोरे हैंए तो तुम काले कैसे हो गए। ऐसा बोल.बोल कर वे नाचते हैंए और उनके साथ सभी ग्वाल.बाल भी हँसते हैं। तुम केवल मुझे हीं मारती होए दाऊ को कभी नहीं मारती हो। तुम शपथ पूर्वक बताओ कि मैं तेरा ही पुत्र हूँ। कृष्ण कि ये बातें सुनकर यशोदा मोहित हो जाती है।


मुख दधि लेप किए सोभित कर नवनीत लिए।
घुटुरुनि चलत रेनु तन मंडित मुख दधि लेप किए॥
चारु कपोल लोल लोचन गोरोचन तिलक दिए।
लट लटकनि मनु मत्त मधुप गन मादक मधुहिं पिए॥
कठुला कंठ वज्र केहरि नख राजत रुचिर हिए।
धन्य सूर एकौ पल इहिं सुख का सत कल्प जिए॥

अर्थ- भगवान श्रीकृष्ण अभी बहुत छोटे हैं और यशोदा के आंगन में घुटनों के बल चलते हैं। उनके छोटे से हाथ में ताजा मक्खन है और वे उस मक्खन को लेकर घुटनों के बल चल रहे हैं। उनके शरीर पर मिट्टी लगी हुई है। मुँह पर दही लिपटा हैए उनके गाल सुंदर हैं और आँखें चपल हैं। ललाट पर गोरोचन का तिलक लगा हुआ है। बालकृष्ण के बाल घुंघराले हैं। जब वे घुटनों के बल माखन लिए हुए चलते हैं तब घुंघराले बालों की लटें उनके कपोल पर झूमने लगती हैए जिससे ऐसा प्रतीत होता है मानो भौंरा मधुर रस पीकर मतवाले हो गए हैं। उनका सौंदर्य उनके गले में पड़े कंठहार और सिंह नख से और बढ़ जाती है। सूरदास जी कहते हैं कि श्रीकृष्ण के इस बालरूप का दर्शन यदि एक पल के लिए भी हो जाता तो जीवन सार्थक हो जाए। अन्यथा सौ कल्पों तक भी यदि जीवन हो तो निरर्थक ही है।


बूझत स्याम कौन तू गोरी।
कहां रहति काकी है बेटी देखी नहीं कहूं ब्रज खोरी॥
काहे को हम ब्रजतन आवतिं खेलति रहहिं आपनी पौरी।
सुनत रहति स्त्रवननि नंद ढोटा करत फिरत माखन दधि चोरी॥
तुम्हरो कहा चोरि हम लैहैं खेलन चलौ संग मिलि जोरी।
सूरदास प्रभु रसिक सिरोमनि बातनि भुरइ राधिका भोरी॥

अर्थ- श्रीकृष्ण जब पहली बार राधा से मिलेए तो उन्होंने राधा से पूछा कि हे गोरी! तुम कौन होघ् कहाँ रहती होघ् किसकी पुत्री होघ् मैंने तुम्हें पहले कभी ब्रज की गलियों में नहीं देखा है। तुम हमारे इस ब्रज में क्यों चली आईघ् अपने ही घर के आंगन में खेलती रहती। इतना सुनकर राधा बोलीए मैं सुना करती थी कि नंदजी का लड़का माखन चोरी करता फिरता है। तब कृष्ण बात बदलते हुए बोलेए लेकिन तुम्हारा हम क्या चुरा लेंगे। अच्छा चलोए हम दोनों मिलजुलकर खेलते हैं। सूरदास कहते हैं कि इस प्रकार कृष्ण ने बातों ही बातों में भोली.भाली राधा को भरमा दिया।


मुखहिं बजावत बेनु धनि यह बृंदावन की रेनु।
नंदकिसोर चरावत गैयां मुखहिं बजावत बेनु॥
मनमोहन को ध्यान धरै जिय अति सुख पावत चैन।
चलत कहां मन बस पुरातन जहां कछु लेन न देनु॥
इहां रहहु जहं जूठन पावहु ब्रज बासिनि के ऐनु।
सूरदास ह्यां की सरवरि नहिं कल्पबृच्छ सुरधेनु॥

अर्थ- यह ब्रज की मिट्टी धन्य है जहाँ श्रीकृष्ण गायों को चराते हैं तथा अधरों पर रखकर बांसुरी बजाते हैं। उस भूमि पर कृष्ण का ध्यान करने से मन को बहुत शांति मिलती है। सूरदास मन को सम्बोधित करते हुए कहते हैं कि अरे मन! तुम क्यों इधर.उधर भटकते हो। ब्रज में हीं रहोए यहाँ न किसी से कुछ लेना हैए और न किसी को कुछ देना है। ब्रज में रहते हुए ब्रजवासियों के जूठे बरतनों से जो कुछ मिले उसी को ग्रहण करने से ब्रह्मत्व की प्राप्ति होती है। सूरदास कहते हैं कि ब्रजभूमि की समानता कामधेनु गाय भी नहीं कर सकती है।


चोरि माखन खात चली ब्रज घर घरनि यह बात।
नंद सुत संग सखा लीन्हें चोरि माखन खात॥
कोउ कहति मेरे भवन भीतर अबहिं पैठे धाइ।
कोउ कहति मोहिं देखि द्वारें उतहिं गए पराइ॥
कोउ कहति किहि भांति हरि कों देखौं अपने धाम।
हेरि माखन देउं आछो खाइ जितनो स्याम॥
कोउ कहति मैं देखि पाऊं भरि धरौं अंकवारि।
कोउ कहति मैं बांधि राखों को सकैं निरवारि॥
सूर प्रभु के मिलन कारन करति बुद्धि विचार।
जोरि कर बिधि को मनावतिं पुरुष नंदकुमार॥

अर्थ- ब्रज के घर-घर में यह बात फ़ैल गई है कि श्रीकृष्ण अपने सखाओं के साथ चोरी करके माखन खाते हैं। एक स्थान पर कुछ ग्वालिनें आपस में चर्चा कर रही थी। उनमें से कोई ग्वालिन बोली कि अभी कुछ देर पहले ही वो मेरे घर आए थे। कोई बोली कि मुझे दरवाजे पर खड़ी देखकर वे भाग गए। एक ग्वालिन बोली कि किस प्रकार कन्हैया को अपने घर में देखूं। मैं तो उन्हें इतना ज्यादा और बढ़िया माखन दूँ जितना वे खा सकें] लेकिन किसी तरह वे मेरे घर तो आएँ। तभी दूसरी ग्वालिन बोली कि यदि कन्हैया मुझे दिख जाएँ तो मैं उन्हें गोद में भर लूँ। एक और ग्वालिन बोली कि यदि मुझे वे मिल जाएँ तो मैं उन्हें ऐसा बांधकर रखूं कि कोई छुड़ा ही न सके। सूरदास कहते हैं कि इस प्रकार ग्वालिनें प्रभु से मिलने की जुगत बिठा रही थी। कुछ ग्वालिनें यह भी कह कर रही थी कि यदि नंदपुत्र उन्हें मिल जाएँ तो वह हाथ जोड़कर उन्हें मना लें और पतिरूप में स्वीकार कर लें।



कबहुं बोलत तात खीझत जात माखन खात|
अरुन लोचन भौंह टेढ़ी बार बार जंभात||
कबहुं रुनझुन चलत घुटुरुनि धुरि धूसर गात|
कबहुं झुकि कै अलक खैंच नैन जल भरि जात||
कबहुं तोतर बोल बोलत कबहुं बोलत तात|
सुर हरी की निरखि सोभा निमिष तजत न मात||

अर्थ- एक बार कृष्ण माखन खाते खाते रूठ गए और रूठे भी ऐसे की रोते.रोते नेत्र लाल हो गये| भौंहें वक्र हो गई और बार बार जंभाई लेने लगे| कभी वह घुटनों के बल चलते थे जिससे उनके पैरों में पड़ी पैंजनिया में से रुनझुन स्वर निकालते थे| घुटनों के बल चलकर ही उन्होंने सारे शरीर को धुलदृधूसरित कर लिया| कभी श्रीकृष्ण अपने ही बालों को खींचते और नैनों में आंसू भर लाते| कभी तोतली बोली बोलते तो कभी तात ही बोलते| सूरदास कहते हैं की श्रीकृष्ण की ऐसी शोभा को देखकर यशोदा उन्हें एक एक पाल भी छोड़ने को न हुई अर्थात् श्रीकृष्ण की इन छोटी छोटी लीलाओं में उन्हें अद्भुत रस आने लगा| |


जसोदा हरि पालनै झुलावै|
हलरावै दुलरावै मल्हावै जोई सोई कछु गावै||
मेरे लाल को आउ निंदरिया काहें न आनि सुवावै|
तू काहै नहिं बेगहिं आवै तोकौं कान्ह बुलावै||
कबहुं पलक हरि मुंदी लेत हैं कबहुं अधर फरकावै|
सोवत जानि मौन ह्वै कै रहि करि करि सैन बतावै||
इहि अंतर अकुलाइ उठे हरी जसुमति मधुरै गावै|
जो सुख सुर अमर मुनि दुरलभ सो नंद भामिनी पावै||

अर्थ- मैया यशोदा श्रीकृष्ण को पालने में झुला रही हैं| कभी तो वह पालने को हल्का सा हिला देती हैंए कभी कन्हैया को प्यार करने लगती हैं और कभी चूमने लगती हैं| ऐसा करते हुए वह जो मन में आता हैं वही गुनगुनाने भी लगती हैं| लेकिन कन्हैया को तब भी नींद नहीं आती हैं| इसीलिए यशोदा नींद को उलाहना देती हैं की आरी निंदिया तू आकर मेरे लाल को सुलाती क्यों नहींघ् तू शीघ्रता से क्यों नहीं आतीघ् देखए तुझे कान्हा बुलाता हैं| जब यशोदा निंदिया को उलाहना देती हैं तब श्रीकृष्ण कभी पलकें मूंद लेते हैं और कभी होठों को फडकाते हैं| जब कन्हैया ने नयन मूंदे तब यशोदा ने समझा कि अब तो कान्हा सो ही गया हैं| तभी कुछ गोपियां वहां आई| गोपियों को देखकर यशोदा उन्हें संकेत से शांत रहने को कहती हैं| इसी अंतराल में श्रीकृष्ण पुनरू कुनमुनाकर जाग गए| तब उन्हें सुलाने के उद्देश से पुनरू मधुर मधर लोरियां गाने लगीं| अंत में सूरदास नंद पत्नी यशोदा के भाग्य की सराहना करते हुए कहते है की सचमुच ही यशोदा बडभागिनी हैं क्योंकि ऐसा सुख तो देवताओं व ऋषि.मुनियों को भी दुर्लभ है|


हरष आनंद बढ़ावत हरि अपनैं आंगन कछु गावत|
तनक तनक चरनन सों नाच मन हीं मनहिं रिझावत||
बांह उठाई कारी धौरी गैयनि टेरी बुलावत|
कबहुंक बाबा नंद पुकारत कबहुंक घर आवत||
माखन तनक आपनैं कर लै तनक बदन में नावत|
कबहुं चितै प्रतिबिंब खंभ मैं लोनी लिए खवावत||
दूरि देखति जसुमति यह लीला हरष आनंद बढ़ावत|
सुर स्याम के बाल चरित नित नितही देखत भावत||

अर्थ- श्रीकृष्ण अपने ही घर के आंगन में जो मन में आता है, वो गाते हैं| वह छोटे.छोटे पैरो से थिरकते हैं तथा मन ही मन स्वयं को रिझाते भी हैं| कभी वह भुजाओं को उठाकर कली श्वेत गायों को बुलाते हैए तो कभी नंद बाबा को पुकारते हैं और घर में आ जाते हैं| अपने हाथों में थोडा सा माखन लेकर कभी अपने ही शरीर पर लगाने लगते हैंए तो कभी खंभे में अपना प्रतिबिंब देखकर उसे माखन खिलाने लगते हैं| श्रीकृष्ण की इन सभी लीलाओं को माता यशोदा छुप.छुपकर देखती हैं और मन ही मन में प्रसन्न होती हैं| सूरदासजी कहते हैं की इस प्रकार यशोदा श्रीकृष्ण की बाल.लीलाओं को देखकर नित्य हर्षाती हैं|



जो तुम सुनहु जसोदा गोरी|
नंदनंदन मेरे मंदीर में आजू करन गए चोरी||
हों भइ जाइ अचानक ठाढ़ी कह्यो भवन में कोरी|
रहे छपाइ सकुचि रंचक ह्वै भई सहज मति भोरी||
मोहि भयो माखन पछितावो रीती देखि कमोरी|
जब गहि बांह कुलाहल किनी तब गहि चरन निहोरी||
लागे लें नैन जल भरि भरि तब मैं कानि न तोरी|
सूरदास प्रभु देत दिनहिं दिन ऐसियै लरिक सलोरी||

अर्थ- इस पद में भगवान् की बाल लीला का रोचक वर्णन हैं| एक ग्वालिन यशोदा के पास कन्हैया की शिकायत लेकर आयी| वो बोली की हे नंदभामिनी यशोदा! सुनो तोए नंदनंदन कन्हैया आज मेरे घर में चोरी करने गएद| पीछे से मैं भी अपने भवन के निकट ही छुपकर खड़ी हो गई| मैंने अपने शरीर को सिकोड़ लिया और भोलेपन से उन्हें देखती रही| जब मैंने देखा की माखन भरी वह मटकी बिल्कुल ही खाली हो गई हैं तो मुझे बहुत पछतावा हुआ| जब मैंने आगे बढ़कर कन्हैया की बांह पकड़ ली और शोर मचाने लगी, तब कन्हैया मेरे चरणों को पकड़कर मेरी मनुहार करने लगे| इतना ही नहीं उनके नयनोँ में अश्रु भी भर आए| ऐसे में मुझे दया आ गई और मैंने उन्हें छोड़ दिया| सूरदास कहते हैं की इस प्रकार रोज ही विभिन्न लीलाएं कर कन्हैया ने ग्वालिनों को सुख पहुँचाया|


अरु हलधर सों भैया कहन लागे मोहन मैया मैया|
नंद महर सों बाबा अरु हलधर सों भैया||
ऊंचा चढी चढी कहती जशोदा लै लै नाम कन्हैया|
दुरी खेलन जनि जाहू लाला रे ! मारैगी काहू की गैया||
गोपी ग्वाल करत कौतुहल घर घर बजति बधैया|
सूरदास प्रभु तुम्हरे दरस कों चरननि की बलि जैया||

अर्थ- सूरदास कहते हैं की अब श्रीकृष्ण मुख से यशोदा को मैयादृमैया, नंदबाबा को बाबादृबाबा व बलराम को भैया कहकर पुकारने लगे हैं| इतना ही नहीं अब वह नटखट भी हो गए हैंए तभी तो यशोदा ऊंची होकर अर्थात कन्हैया जब दूर चले जाते हैं तब उचकदृउचककर कन्हैया को नाम लेकर पुकारती हैं और कहती हैं की लल्ला गाय तुझे मारेंगी| सूरदास कहते हैं की गोपियों व ग्वालों को श्रीकृष्ण की लीलाएं देखकर अचरज होता हैं| श्रीकृष्ण अभी छोटे ही हैं और लीलाएं भी अनोखी हैं| इन लीलाओं को देखकर ही सब लोग बधाइयाँ दे रहे हैं| सूरदासजी कहते हैं की हे प्रभु! आपके इस रूप के चरणों की मैं बलिहारी जाता हूँ |


मैं नहीं माखन खायो मैया| मैं नहीं माखन खायो|
ख्याल परै ये सखा सबै मिली मेरै मुख लपटायो||
देखि तुही छींके पर भजन ऊँचे धरी लटकायो|
हौं जु कहत नान्हें कर अपने मैं कैसे करि पायो||
मुख दधि पोंछी बुध्दि एक किन्हीं दोना पीठी दुरायो|
डारी सांटी मुसुकाइ जशोदा स्यामहिं कंठ लगायो||
बाल बिनोद मोद मन मोह्यो भक्ति प्राप दिखायो|
सूरदास जसुमति को यह सुख सिव बिरंचि नहिं पायो||

अर्थ- श्रीकृष्ण की बाल लीलाओं में माखन चोरी की लीला सुप्रसिद्ध| वैसे तो कान्हा ग्वालिनों के घरो में जाकर माखन चुराकर खाया करते थे| लेकिन आज उन्होंने अपने ही घर में माखन चोरी की और यशोदा मैया ने उन्हें देख लिया| सूरदासजी ने श्रीकृष्ण के वाक्चातुर्य का जिस प्रकार वर्णन किया है वैसा अन्यत्र नहीं मिलता| यशोदा मैया ने देखा कि कान्हा ने माखन खाया हैं तो उन्होंने कान्हा से पूछा की क्योरे कान्हा! तूने माखन खाया है क्याघ् तब बालकृष्ण ने अपना पक्ष किस तरह मैया के सामने प्रस्तुत करते हैंए यही इस दोहे की विशेषता हैं| कन्हैया बोले३ मैया! मैंने माखन नहीं खाया हैं| मुझे तो ऐसा लगता हैं की ग्वालदृबालों ने ही जबरदस्ती मेरे मुख पर माखन लगा दिया है| फिर बोले की मैया तू ही सोचए तूने यह छींका किना ऊंचा लटका रखा हैं मेरे हाथ भी नहीं पहुँच सकते हैं| कन्हैया ने मुख से लिपटा माखन पोंछा और एक कटोरा जिसमें माखन बचा था उसे छिपा लिया| कन्हैया की इस चतुराई को देखकर यशोदा मन ही मन में मुस्कुराने लगी और कन्हैया को गले से लगा लिया| सूरदासजी कहते हैं यशोदा मैया को जिस सुख की प्राप्ति हुई वह सुख शिव व ब्रम्हा को भी दुर्लभ हैं| भगवान श्रीकृष्ण की बाल-लीलाओं के माध्यम से यह सिद्ध किया हैं कि भक्ति का प्रभाव कितना महत्वपूर्ण हैं|


किडनी फेल (गुर्दे खराब) की अमृत औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि 

आर्थराइटिस(संधिवात)के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार












500 हिन्दी भजनों के लीरिक्स और विडियो लिंक्स//Free 500 Hindi bhajans


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : भगवान के सच्चे भक्तो को पग पग में सहारा मिलता है 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : चलूंगी तेरे संग रसिया हे रंग रसिया 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : मनमोहन मुरली वाले तुम को आना चाहिए 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : जीवन रस पीना है तो पी श्याम नाम का प्याला जय श्री कृष्णा जय गोपाला 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : शाम तेरी मुरली पागल कर जाती है // Shyam teri murli.... Krishna Bhajan by Alka Goel 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : तेरी मुरली की धुन सुनने मैं बरसाने से आयी हूँ । 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : साथी हमारा कौन बनेगा तुम ना सुनोगे तो कौन सुनेगा 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ले लो राधे का नाम दौड़े आएंगे श्याम 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : गोपाला गोपाला तू गुरु मेरा मैं चेला रे 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ढोल नगाड़े बजे धामा धम घर घर बटे बधाइया हैप्पी बर्थडे डियर कन्हैया 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : तुमसे अच्छा कोन होगा बाबा मेरा हमसफ़र 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : कान्हा रे कान्हा तुझको बुलाए राधा का प्यार तेरी राधा का प्यार 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : मोरी भीगी चुनरी सारी, रंग डाल गयो गिरधारी 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : राधे कृष्ण की ज्योति अलौकिक तीनो लोक में छाए रही है 



भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ओम नमः शिवाय जय शिव शंकर 


सरल नुस्खे सेहत उपकार ब्लॉग के 500 लेख की लिंक-सूची

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : नंद का लाला बाँसुरी वाला बुलावे मोहे गोकुल की नगरी 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : जीवन की नैया करदे प्रभु के हवाले 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : बिनती सुनिए नाथ हमारी, 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ॐ शंकर शिव भोले उमापति महादेव 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : भोले राम आजा राम भोले राम 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : भज मन मेरे राम नाम तू , गुरु आज्ञा सिर धार रे 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : राम नाम के हीरे मोती, 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : राम नाम सुखदाई, भजन करो भाई

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : हाथी घोडा पालकी जय कन्हैया लाल की "Haathi Ghora Palki, Jai 

Kanhaiya Lal Ki" - Jai Sri Krishna 

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : कौन कहते हैं भगवान आते नहीं // koun kehte hai bhagwan aate nahi 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : भगत के बस मे है भगवान bhagat ke bas me hai bhagwan

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : भगवान के सच्चे भक्तो को पग पग में सहारा मिलता है 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : चलूंगी तेरे संग रसिया हे रंग रसिया 

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : मनमोहन मुरली वाले तुम को आना चाहिए 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ओ मुरली वाले आ जा तेरी याद सताये // O MURLI WALE AJA TERI YAAD SATAYE 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : साथी हमारा कौन बनेगा तुम ना सुनोगे तो कौन सुनेगा 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ले लो राधे का नाम दौड़े आएंगे श्याम 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : गोपाला गोपाला तू गुरु मेरा मैं चेला रे 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : तुमसे अच्छा कोण होगा बाबा मेरा हमसफ़र 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : - Manna Dey 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : - Tan Ke Tambure Mein Do Saanson Ke 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : - Om Jai Laxmi Mata 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : -कबीर भजन 


घरेलू आयुर्वेदिक उपचार के 500 लेख की लिंक-सूची 

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : -देशभक्ति भजन 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : -राम भजन 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : -वंदे मातरम 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अच्युतम केशवम कृष्ण दामोदरम :आध्यात्मिक भजन संगृह 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : हे शारदे माँ // He Sharade Ma,saraswati vandana 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : :ambe tu hai jagdambe kali 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : :Banwari re jeene ka sahara tera nam re 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : :आध्यात्मिक भजन संगृह 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : :एक प्रेम दीवानी एक दरस दीवानी 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : रामायण के चौपाई -मंत्र // Ramayan Chopai mantra 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ..सुबह शाम आठो याम यहीं नाम लिए जा 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : 'Govind Bolo Hari Gopal Bolo 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : "MERI VINTI SUNO BHAGWAN" 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : "सुबह सुबह ले शिव का नाम 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : |Sadhvi Purnima Ji

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : हे प्रभु मुझे बता दो, चरणों मे कैसे आऊँ

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : भगवान के सच्चे भक्तो को पग पग में सहारा मिलता है 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : चलूंगी तेरे संग रसिया हे रंग रसिया 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : मनमोहन मुरली वाले तुम को आना चाहिए 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : जीवन रस पीना है तो पी श्याम नाम का प्याला जय श्री कृष्णा जय 

गोपाला 

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : साथी हमारा कौन बनेगा तुम ना सुनोगे तो कौन सुनेगा 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ले लो राधे का नाम दौड़े आएंगे श्याम 


"काव्य-मंजूषा" की 5 00 कविता  का अनुपम संगृह 

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : गोपाला गोपाला तू गुरु मेरा मैं चेला रे 

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ढोल नगाड़े बजे धामा धम घर घर बटे बधाइया हैप्पी बर्थडे डियर कन्हैया 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : तुमसे अच्छा कोन होगा बाबा मेरा हमसफ़र 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : कान्हा रे कान्हा तुझको बुलाए राधा का प्यार तेरी राधा का प्यार 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : मोरी भीगी चुनरी सारी, रंग डाल गयो गिरधारी 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : राधे कृष्ण की ज्योति अलौकिक तीनो लोक में छाए रही है 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ओम नमः शिवाय जय शिव शंकर 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : नंद का लाला बाँसुरी वाला बुलावे मोहे गोकुल की नगरी 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : जीवन की नैया करदे प्रभु के हवाले 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : बिनती सुनिए नाथ हमारी, 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ॐ शंकर शिव भोले उमापति महादेव 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : भोले राम आजा राम भोले राम 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : भज मन मेरे राम नाम तू , गुरु आज्ञा सिर धार रे 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : राम नाम के हीरे मोती,


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : राम नाम सुखदाई, भजन करो भाई 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : भगवान के सच्चे भक्तो को पग पग में सहारा मिलता है 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : चलूंगी तेरे संग रसिया हे रंग रसिया 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : मनमोहन मुरली वाले तुम को आना चाहिए 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : साथी हमारा कौन बनेगा तुम ना सुनोगे तो कौन सुनेगा 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ले लो राधे का नाम दौड़े आएंगे श्याम 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : गोपाला गोपाला तू गुरु मेरा मैं चेला रे 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : तुमसे अच्छा कोण होगा बाबा मेरा हमसफ़र 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : - Manna Dey 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : - Tan Ke Tambure Mein Do Saanson Ke 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : - Om Jai Laxmi Mata 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : -कबीर भजन 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : -देशभक्ति भजन 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : -राम भजन 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : -वंदे मातरम 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : :ambe tu hai jagdambe kali 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : :Banwari re jeene ka sahara tera nam re 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : :आध्यात्मिक भजन संगृह 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : :एक प्रेम दीवानी एक दरस दीवानी 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ..सुबह शाम आठो याम यहीं नाम लिए जा 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : 'Govind Bolo Hari Gopal Bolo 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : "MERI VINTI SUNO BHAGWAN" 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : "सुबह सुबह ले शिव का नाम 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : |Sadhvi Purnima Ji 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : A Meera Bai Bhaja 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : A Meera Bai Bhajan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Aab tumhare hawale watan saathiyo


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Aamrit ki barse badariya 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Aanand Mangal Karu Aarti 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Aao Bachchon Tumhen Dikhayen Jhanki 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Aarti shree Gajanan Maharaj 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Aarti - Mahalaxmi 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Aarti Kije Hanuman Lala Ki हनुमान जी की आरती 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Ab hon naachyo bahut Gopal 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Ab Kisi Mehfil Me Jane Ki Hame Fursat Nahi 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Achyutam Keshavam Krishna Damodaram 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : agar dil kisi ka dukhaya na hota 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : aisa pyar baha de maiya 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Aisi lagi lagan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Ajab Hairaan Hun Bhagwan


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ajay


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Amritsar Nu Chaliye 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Anup Jalota 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : anuradha padwal 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Apne Path Par Aap Chalao 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ARYA SAMAJ BHAJAN 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : asha bhosle 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Aye Mere Watan Ke Lata Mangeshka 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Baaje Re Muraliya Baaje 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Bada natkhat hai krishna kanhaiy बड़ा नटखट है कृष्ण कन्हाई 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : bas ho gaya bhajan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : batao kahan milega shyam 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Beet Gaye Din Bhajan Bina Re 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Bhagwan meri naiya us paar laga dena 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : bhajan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : bhakti geet 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : bhaktigeet 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Bhav Paar Karo Bhagwaan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Bhimsen Joshi 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Bhola Prasad Singh


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Bhor Bhaye Panghat Pe Mohe Natkhat Shyam 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : binduji 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : bridavan ka krishan kanahiya..hemant kumar- mohd.rafi- lata- 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : By Anup Jalota 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : By Gulshan Kumar 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : By Nitin mukesh 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : by Srila Prabhupada 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : charano se lipat jaaoon dhool banke 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : darshan dedo ram 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : data ek ram bhikhari sari duniya 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Dekha Ajab Nazara Darbar Mein Kanhaiya 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Dekho Swami Dayanand Kya Kar Gaya 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : deshbhakti geet 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : deva shri ganesh 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Do Din Ki Hai Sagai 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Dukh sukh tha ek sabka 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Duniya Rachnewale Ko Bhagwan Kethe Hain 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : durga bhajan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : durga bhajan ambe mata ka bhajn 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Durga Chalisa 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : EK DAAL DO PANCHI BETHA KON 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ekek bar sab ke sang beeti surdas bhajan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : gaaiiye ganpati jag vandan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Ganesh Bhajan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ganesh ki arti 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Ganpati Bappa Morya 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ganpati bhajan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : gayatri chalisa 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Ghar Aao Maa 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Ghunghroo Baje Re Bajrang Nache Re 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : GURU BHAJAN 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : guru bhajan guru govind 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : guru meri pooja 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : guruji mai to ek niranjan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Hai Preet Jahan Ki Reet Sada 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : hame raston ki jarurat nahin hai 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : hanuman ashtak 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : hanuman bhajan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : hanuman bhajan shanivar tera hai 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Hanuman Chalisa 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Hari Om Sharan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Hey Nath Narayan Vasudeva 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Ho Jiska Saathi Hai Bhagwan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Holi Khelat Girdhari 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Hum Laye Hain Toofan Se Kashti Nikal Ke 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Itni shakti hume dena data 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Jagat Ke Rang Kya Dekhu 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Jagjit Singh 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Jahan Dal Dal Pe Sone ki 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : jahan le chaloge bhagwan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Jaidev Jaidev Jay Mangal Murti 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Jain bhajan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Janmashtami Song 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Jaya Kishori Ji Mahara Khatu Ra Shyam 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Jaya Radha Madhava 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Je Milna Bajaan Wale Nu 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Jhuto Sansar 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Jogi Mat Ja Mat Ja 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Juthika Roy 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : kabir bhajan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : kabirdas 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Kanhaiya Tujhe Aana Padega 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Khatu Shyam Bhajan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Kishori kuch aisa intjam ho jaye 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : koun kehte hai bhagwan aate nahi 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Krishna bhajan कृष्ण भजन 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Krishna Bhajan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : krishna bhajn 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Kya Kya Kahoon Main Krishna Kanhaiy 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : laj rakho girdhari 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : lakshmi chalisa 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : lakshmi poojan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : LATA MANGESHKAR 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Lata. 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : maa jag janani jay jay 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : maa vedo ne jo teri mahima kahi hai 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Madad Karo Santoshi Mata 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : madhuban k mandiro mai.. जैन भजन 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Main Balak Tu Mata 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : man lagyo mero yaar fakiri me 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Man Mein Base Hai Do Naam 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Mandir mandir bhatkaye 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : mangalvar tera hai 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Manmohan kanha binati karoon din ren 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Meera bhajan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : meerabai ka bhajn 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Mera Aap Ki Kripa Se 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Mera Chota Sa Sansar Hari Aa Jao Ek Baar 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : mere jaisa bhagat bhi baba 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : MERI LAAJ RAKHO GIRDHARI 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : meri sunkar karun pukar 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : mero dard na jaane koy 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : mero man anat kaha sukh pave


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : mero man ram hi ram rate re 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Milata Hai Sacha Sukh. 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Mira Bhajans 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Mithe Ras Se Bharyo Radha Rani Lage - 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : mo ko kahan dhunde bande 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Mukesh 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Murakh Bande Kya Hai Re Jag Mein Tera 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Na Mai Dharmi 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Na Thi Kismat Meri 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Naiya padi majhdhar guru bina कबीर भजन 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Namami Ambe Deen Vatsale 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Nanda Babaji Ko Chaiya 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : nath mohe abaki ber ubaro 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Navratri 2016 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Navratri Ke Nau Din Aaye 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : naya parie majadhar 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : nirgun bhajan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Nirgun O Nyare 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : O MURLI WALE AJA TERI YAAD SATAYE 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : O Palanhare 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Om Namah Shivaya Om Namha Shivaya 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Pandit Bhimsen Joshi 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Par karenge naiyya bhaj krishna kanhaiya 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Paramaananda Gurunaatha Ramana Aananda Gurunaatha 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : payoji mene ram ratan dhan payo 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : pitu mayu sahayak swami sakha 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Prabhu Ji Tum Aa Jaao


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : prabhuji sukh ka sagar hai 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Radha Aisi Bhai Shyam ki Diwani‏ 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Radha Krishna Bhajan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : radha rani ki kripa ka kya kahne 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : radhe bhajan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Radhe Radhe Bol 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Radhey Krishan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : rafi 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ram bahajn 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ram bhajan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Ram Chalisa 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Ram ji ke naam ne to 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ram ji se ram ram kahiyo 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Ram naam ke Heere Moti main Bikhraun gali gali 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Rashtriya Mahila Shivir 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Ravidas Ke Pad 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Resham Sapkota Bhajan Chutka 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : sankat mochn nam tiharo 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Sanware Ko Dil Me 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Sanwariya Thara Naam Hazaar 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : saraswati vandana 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : sare jahan se acha full song 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Sari Duniya Hai Diwani 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Sawariya man bhaayo re 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : shankar bhajan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Shankar Mera Pyara 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Sheranwaliye 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Shirdi Wale Sai Baba 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : shiv arti 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : shiv bhajan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Shiv Chalisa


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : shiv tandav strotam 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Shiva bhajan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Shiva bhajan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Shri Krishan Govind Hare Murari 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Shri Krishna Chalisa 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Shri Ram Chandra Kripalu Bhajuman 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : shri ramchandra kripalu bhajman 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Shri Ramchandra Kripalu Bhajman - Hindu Sanskrit Bhajan - Kavita Krishna 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : shri ramchandra kripalu bhajman haran bhav bhay darunam 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Shri Vinod Agarwal Ji 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Shyam chudi Bhechne Aya 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Shyam teri murli 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : so ja kesari nandan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : subah subah le shiv ka nam 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Sudhanshuji Maharaj 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Sur ki gati main kya jaanun 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : surdas 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Surdas Bhajan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Surdas bhajan सूरदास भजन 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Surdas ka Bhajan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Suresh Wadkar 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Swami Chidananda Ramakrishna Mission 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Swarg Nark Sab Is Dharti Pe 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : tera jhootha moh jagat me 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : tera ramji karenge beda paar 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Thumak chalat ramchandra 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : tora man darpan kahlaaye 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Tu dayalu deen hon tu dani hon तू दानी हों 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Tu hai ya naheen bhagwan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : tulsidas 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : tum janat hamre sang biti 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : tum kaha chupe bhagavan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Tum taji aur koun pe jaaun 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Tum To Sabke Ho Rakhwale 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Umariya dhokhe me khoy diyo re 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : UPKAR 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Vande Mataram 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : vishnu bhagwan ko arti 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : vishnu bhajan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Vividh Bhajans 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Vividh Bhajans Swami Chidananda Ramakrishna Mission 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : yah banda tere charano ka das rahe krishna bhajan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Yahan Wahan Jahan Wahan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : yahi hari bhakt kahte hain 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Yashoda Ke Laal 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : Yeh Desh Hai Veer Jawanon Ka 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ॐ गंगणपतये नमो नमः 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ॐ जय जगदीश हरे 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ॐ जय लक्ष्मी माता 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ॐ जय लक्ष्मी रमना 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ॐ जय शिव ओंकारा 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ॐ नमः शिवाय ॐ नमः शिवाय 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ॐ शंकर शिव भोले उमापति महादेव 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ॐबोल मेरी रसना 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अँखियाँ प्यासी रे | 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अंखियाँ हरि दरसन की प्यासी 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अँखियाँ हरी दरसन की प्यासी Surdas Bhajan "Akhiya Haridarasan Ki Pyasi 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अगर घनश्याम का दिल 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अगर दिल किसी का दुखाया न होता 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अच्युतम केशवम कृष्ण दामोदरम 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अंजनीपुत्र 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अजब हैरान हूँ भगवन तुम्हें कैसे रिझाऊँ मैं 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अजब है रूप और अजब तेरी हस्ती 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अधरों पे जा सजी है कन्हैया तेरी ये वंशी 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अनुराधा पोडवाल 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अनूप जलोटा 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अनूप जलोटा शिव भजन 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अपने दिल का हाल सुनावन आयां हां 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अपने पथ पर अप चलाओ 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अपने लेकर बैठा हूँ 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अब आ जा रे मुरली वाले झलक दिखा जा 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अब ऐसा वर मैं पाऊँ 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अब किसी महफिल मे जाने की हमे फुर्सत नहीं 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अब कै माधव 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अब कैसे छूटे नाम रट लागी 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अब कैसे छूटै राम नाम रट लागी 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अब तुम्हारे हवाले वतन साथियों

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अब नाच्यो बहुत गोपाल 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अब मैं ने रसना का फल पाया 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अब सोंप दीया इस जीवन का सब भार तुम्हारे हाथों में 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अमृत 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अमृत की बरसे बदरिया 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अम्बे तू है जगदम्बे काली 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अम्बे माँ 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अहंकार 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : अहिल्या 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : आओ यशोदा के लाल 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : आओ बच्चों तुम्हें दिखाएँ झांकी 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : आग बहे तेरी राग में तुझसा कहा कोई जाग में 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : आज कल याद कुछ और रहता नहीं 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : आज तेरा जगराता माता 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : आता रहूं गाता रहूं मेरे बाबा तुझको रिझाता रहूं 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : आपसे ए प्रभु हम गिला क्या करें Apse Ae Prabhu 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : आरती कीजे हनुमान लला की 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : आरती कीजे हनुमान लला की | 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : आरती कुंजबिहारी की 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : आर्य समाज 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : आशा भोसले 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : इतनी शक्ति हमें देना दाता 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : इन्साफ का मन्दिर है यह 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : उच्चेआ पहाड़ा वाली माँ 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : उठ जाग मुसाफिर भोर भई 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : उठ नाम सिमर Uth Naam Simar 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : उठो जवान देश की वसुंधरा पुकारती 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : उमरिया धोखे में खोये दियो रे 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ऊधौ 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ऊबो थारी हाजरी बजाऊं सांवरा 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ए मेरे वतन के लोगों जरा आँख मे भरलों पानी 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : एक डाल दो पंछी रे बेठा 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : एक राधा एक मीरा: 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : एकदंताय वक्रतुण्डाय गौरीतनयाय vakratunday gouritanyay 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ऐ मालिक तेरे बंदे हम 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ऐसा प्यार बहा दे मैया 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ऐसी लागी लगन 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ऐसे हो हमारे करम 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ओ पालनहारे 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ओ मईया तैने का ठानी मन में 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ओ मुरली वाले आ जा तेरी याद सताये 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ओम जय अम्बे गौरी Om Jai Ambe Gauri Aarti Bhakti Songs 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ओम जय जगदीश हरे 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : ओम नमः शिवाय जय शिव शंकर 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : कदम्भ 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : कन्हिया 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : कन्हैया 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : कन्हैया कन्हैया तुझको आना पड़ेगा 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : कन्हैया प्यारे दुलारे मोहन बजाओ फिर अपनी प्यारी बंसी 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : कबहुँ न साथ छूटे हमरा बलम के 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : कबीर भजन 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : कबीर वाणी 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : कभी प्यासे को 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : कभी प्यासे को पानी पिलाया नहीं 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : कभी राम बन के कभी शाम बन के 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : करुणा निधे भगवान Sathya Sai Bhajan Karuna Nidhey Bhagawan (Blissful Sai Bhajan) 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : कर्मन की गति न्यारी 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : कल्पतरु पुन्यातामा 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : काटो मेरे दुख के बंधन 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : कान्हा कान्हा आन पडी Kanha Kanha Aan Padi 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए। 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : कुछ भी बन


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : कृपा बरसाए रखना 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : कृष्ण 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : कृष्ण कन्हैया 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : कृष्ण भजन 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : कृष्ण भजन krishna bhajan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : कृष्णा तेरी मुरली ते भला कौन नही नाचदा 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : कैसा प्यारा ये दरबार है 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : कोई कहे गोविंदा 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : कोई गोपाला 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : कोई तुलना नहीं है मेरी सरकार की ॥ 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : कौन कहते हैं भगवान आते नहीं 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : कौन काटता राम के बंधन जो हनुमान ना होते जो हनुमान ना होते 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : क्या क्या कहूँ मैं कृष्ण कन्हैया 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : क्यूँ घबराऔ मे 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : खेवैया 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : गंगा के जल को लाने का मौसम आया है 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : गंगा मैया मे जब तक की पानी रहे 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : गंगाजी
भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : गजानन महाराज की आरती 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : गणपति बाप्पा मोरिया 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : गाइये गणपति जगवंदन | 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : गायत्री चालीसा 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : गुरु भजन 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : गुरु मेरा पारब्रह्म 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : गुरु मेरी पूजा 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : गुरुजी मैं तो एक निरंजन ध्याऊँ 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : गुरुजी मैं तो एक निरंजन ध्याऊँ जी 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : गुरुजी मैं तो एक निरंजन ध्याऊँ जी : निर्गुण भजन 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : गोरख 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : गोविंद 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : गोविंद बोलो हरी गोपाल बोलो 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : गोविंद भजन 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : घुँघरू बाजे रे बजरंग नाचे रे 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : घूँघट के पट खोल तुझे पिया मिलेंगे Ghunghat Ka Pat Khol Tujhe Piya Milenge Jhuthika Roy. 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : घूँघट का पट खोल रे 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : चमत्कार वहाँ हो गया 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : चरण पादुका लेकर सब से पूछ रहे रसखान 

जन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : चरणामृत 

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : चरणों मे कैसे आऊँ 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : चरणों से लग जाऊ मैं । 



भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : चरणो से लिपट जाऊं धूल बन के 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : चली जा रही है 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : चालीसा: श्री बगलामुखी माता 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : छोटी छोटी गैयाँ 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : छोटे छोटे ग्वाल 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : जग का पालन हार 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : जगजननी जय जय माँ//Jag Janani Jai Jai Maa 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : जगत के रंग क्या देखूँ 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : जन गण मन अधिनायक जय हे 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : जपा कर जपा कर हरी ॐ तत्सत- 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : जय राधा माधव 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : जय जय गिरिबरराज किसोरी । 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : जय जय पिता 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : जय दुर्गे दुर्गति परिहारिणी 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : जय देव जय देव मंगल मूर्ति 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : जय महेश जटाजूट कंठ सोहे कालकूट 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : जय माँ वैष्णो देवी Jai Maa Vaishno Devi Vaishno Devi Aarti 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : रामायण के चौपाई -मंत्र // Ramayan Chopai mantra 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : जय राम रमारमनं 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : जहां ड़ाल डाल पर सोने की 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : जहाँ भगतो की भरमार है 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : जहां ले चलोगे 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : जहाँ विराजे विष्णु के अवतारी गंगाराम 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : जागृति 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : जागो बंसी वारे ललना जागो : Jago banshi bare lalna 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : जागो मोहन प्यारे Jaago Mohan Pyare 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : जानकी 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : जिद अपनी छोड़ 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : May 2016 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : June 2016 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : July 2016 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : 2010 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : August 2010 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : September 2010 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : November 2010 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : December 2010 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : 2015 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : July 2015

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : August 2015

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : October 2015

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : 2016


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : February 2016

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : March 2016

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : April 2016

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : August 2016

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : September 2016

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : October 2016

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : 2017

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : March 2017

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : April 2017

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : May 2017

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : June 2017

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : July 2017

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : August 2017

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : September 2017

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : October 2017 


भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : November 2017

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : August 2019

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : 1968

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : 1978

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : August 2019

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : December 2017

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : 2018

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : January 2018

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : February 2018

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : March 2018

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : May 2018

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : July 2018

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : October 2018

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : November 2018

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : December 2018

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : 2019

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : January 2019

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : February 2019

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : March 2019

भजन - सरोवर: Free Hindi Bhajan : July 2019