http://feeds.feedburner.com/blogspot/GKoTZ

Wednesday, September 21, 2016

सोभित कर नवनीत लिए/ श्री कृष्ण -सूरदास भजन / Shri Krishna Surdas Bhajan /Suresh Wadkar

सोभित कर नवनीत लिए 
श्री कृष्ण -सूरदास भजन
 Shri Krishna Surdas Bhajan 
Suresh Wadekar 





सोभित कर नवनीत लिए।
घुटुरुनि चलत रेनु तन मंडित मुख दधि लेप किए॥
चारु कपोल लोल लोचन गोरोचन तिलक दिए।
लट लटकनि मनु मत्त मधुप गन मादक मधुहिं पिए॥
कठुला कंठ वज्र केहरि नख राजत रुचिर हिए।
धन्य सूर एकौ पल इहिं सुख का सत कल्प जिए॥


No comments:

Post a Comment