http://feeds.feedburner.com/blogspot/GKoTZ

15.8.16

आलि मोहि लागे वृन्दावन नीको

मीरा का भजन 
,Meera bhajan 

Image result for आली मोहे लागे वृन्दावन नीको॥

आलि मोहि लागे वृन्दावन नीको॥
घर-घर तुलसी ठाकुर सेवा, दरसण गोविन्दजीको ॥१॥
निरमल नीर बहुत जमुना में, भोजन दूध दही को।
रतन सिंघासण आपु बिराजै, मुकुट धरयो तुलसीको॥२॥
कुज्जन-कुज्जन फिरत राधिका, सबद सुणत मुरलीको।
'मीरा' के प्रभु गिरधर नगर, भजन बिना नर फीको॥३॥