http://feeds.feedburner.com/blogspot/GKoTZ

20.8.16

अब मैं ने रसना का फल पाया

                     Image result for raam naam
                 
अब मैं ने रसना का फल पाया
अब मैं ने रसना का फल पाया ।
भाव चाव से राम राम जप,
अपना आप जगाया ॥१॥
राम राम की ध्वनि लगन में,
लव लीनता ला कर ।
राम नाम मधुरतम जप कर,
जीवन सफल बनाया ॥२॥
राम नाम रस चख रसना ने,
रस सरसानी हो कर ।
सभी रसों का सार सुधा सम,
राम प्रेम बसाया ॥३॥
राम नाम विलसे रसना पर,
निश दिन साँझ सवेरे ।
चलते फिरते सोते जगते,
सनी नाम से काया ॥४॥
भले भाव भीतर भर आये,
भक्ति भाव उमड़ाया ।
चम चम चमकी चित्त चारूता,
निश्चय चांद चढ़ आया ॥५॥