http://feeds.feedburner.com/blogspot/GKoTZ

27.6.16

तुम जानत हमरे संग बीती इक इक बार सभी के संग बीती सूरदास भजन

तुम जानत  हमरे संग  बीती,
 ek   ek bar sab ke sang beeti

 surdas ji bhajan

तुम जानत हमरे संग बीती!
सूर्य चंद्रमा रहत गगन में,
ग्रहण लग्यो उनके संग बीती,
राजा हरिश्चंद्र रानी तारामती,
नीर भरण उनके संग बीती!
राम लखन सिया गए वन माहि,
सीता हरण उनके संग बीती!
जल की मछलियाँ जल में रहती,
जाल पड्यो उनके संग बीती!
पाँच पाण्डव और छटी द्रोपदी,
चीर हरण उनके संग बीती!
"सूरदास" प्रभु अरज करे हे,
नैन गए हमरे संग बीती!
तुम जानत हमरे संग बीती!