http://feeds.feedburner.com/blogspot/GKoTZ

Thursday, June 23, 2016

बृंदावन का कृष्ण कन्हैया bridavan ka krishan kanahiya..hemant kumar- mohd.rafi- lata- miss mary

बृंदावन का कृष्ण कन्हैया, 
bridavan ka krishan kanahiya,
..hemant kumar,
 mohd.rafi,
lata

     bhakti geet

वृन्दावन का कृष्ण कन्हैया सबकी आँखों का तारा
मन ही मन क्यों जले राधिका मोहन तो है सबका प्यारा

वृन्दावन का ...

१.
जमुना तट पर नन्द का लाला जब जब रास रचाए रे
तन मन डोले कान्हा ऎसी मुरली मधुर बजाये रे
सुध-बुध खोये खड़ी गोपियाँ जाने कैसा जादू डाला
वृन्दावन का ...

२.
रंग सलोना ऐसा जैसे छायी हो घटा सावन की
ऐ री मैं तो हुई दीवानी मन मोहन मन भावन की
तेरे कारण देख सांवरे छोड़ दिया मैंने जग सारा

वृन्दावन का कृष्ण कन्हैया सबकी आँखों का तारा
मन ही मन क्यों जले राधिका मोहन तो है सबका प्यारा

वृन्दावन का ...


No comments:

Post a Comment