http://feeds.feedburner.com/blogspot/GKoTZ

17.6.16

ले के पूजा की थाली, ज्योत मन की जगाली,


ले के पूजा की थाली, ज्योत मन की जगाली,----video link
तेरी आरती उतारूँ, भोली माँ ।
तू जो दे दे सहारा, सुख जीवन का सारा,
तेरे चरणों पे वारुण, भोली माँ ॥


धूल तेरे चरणों की ले कर माथे तिलक लगाया ।
यही कामना लेकर मैया द्वारे तेरे मैं आया ।
रहूँ मैं तेरा हो के, तेरी सेवा में खो के,
सारा जीवन गुजारूं, भोली माँ ॥


सफल हुआ यह जनम के मैं था जन्मो से कंगाल ।
तुने भक्ति का धन देके कर दिया मालोमाल ।
रहे जब तक यह प्राण, करूँ तेरा ही ध्यान,
नाम तेरा पुकारूं, भोरी माँ ॥