http://feeds.feedburner.com/blogspot/GKoTZ

Sunday, April 3, 2016

हो कन्हैया तोरी मुरली बैरन भई |

मुरली बैरन भई,
हो कन्हैया  तोरी  मुरली बैरन भई |  (इस लिंक को क्लिक कर भजन यूट्यूब  मे सुनें|)
बावरी मै बन गयी,
कन्हीया तेरी मुरली बैरन भई ||

वृन्दावन की कुंज गली मे राधा गयी दिल हार |
अब अखियन की मस्त गली मे कन्हीया फिरे बार बार |
सोतन मेरे मन को हर गयी ||

प्यार जाता के तन मन लूटा,
पीछे पड़ा बईमान |
यमुना तट पर ले गया नटखट,
मधुर सुनाई तान |
जिगर के पार उतर गयी रे ||

No comments:

Post a Comment