http://feeds.feedburner.com/blogspot/GKoTZ

Saturday, April 2, 2016

मेरो मन राम ही राम रटे रे:mero man ram hi ram rate re

Ram Bhajan

मेरो मन राम ही राम रटे रे
मेरो मन राम ही राम रटे रे
राम नाम जप लीजे प्राणी कोटिक पाप कटे रे
राम नाम जप लीजे प्राणी कोटिक पाप कटे रे
जनम जनम के खत जो पुराने नाम ही लेत फटे रे
जनम जनम के खत जो पुराने नाम ही लेत कटे रे
मेरो मन राम ही राम रटे रे
मेरो मन राम ही राम रटे रे
कनक कटोरी अमृत भरियो पिबत कौन नटे रे
कनक कटोरी अमृत भरियो पिबत कौन नटे रे
मेरा कहे प्रभु हरिअविनाशी
मेरा कहे प्रभु हरिअविनाशी
तन मन का ही फटे रे
मेरो मन राम ही राम रेट रे
मेरो मन राम ही राम रटे रे
मेरो मन राम ही राम रटे रे
मेरो मन राम ही राम रटे रे
मेरो मन राम ही राम रटे रे

No comments:

Post a Comment