http://feeds.feedburner.com/blogspot/GKoTZ

किसको मैं दर्द कहूँ मैया तेरे जैसा कोई हमदर्द नहीं



किसको मैं दर्द कहूँ मैया तेरे जैसा कोई हमदर्द नहीं
जिस को तू ठीक न कर सकती ऐसा तो कोई मर्ज नहीं
किसको मैं दर्द कहु मैया तेरे जैसा कोई हमदर्द नहीं

माँ काली काल के पंजे से बच्चों को अपने बचाती है
कभी कोई कष्ट ना जाए  रक्षा करती हर दम सब की

जिस को तू ठीक न कर सकती ऐसा तो कोई मर्ज नहीं
किसको मैं दर्द कहु मैया तेरे जैसा कोई हमदर्द नहीं

माँ दुर्गा अपने बच्चों  हरती है
धन दौलत सब कुछ दे कर के झोली भरती  हो माँ सबकी

जिस को तू ठीक न कर सकती ऐसा तो कोई मर्ज नहीं
किसको मैं दर्द कहु मैया तेरे जैसा कोई हमदर्द नहीं


इतनी शक्ति हमें देना दाता


इतनी शक्ति हमें देना - Itni Shakti Hamein Dena (Pushpa, Sushma, Ankush)

Movie/Album: अंकुश (1986)
Music By: कुलदीप सिंह
Lyrics By: अभिलाष
Performed By: पुष्पा पागधरे, सुषमा श्रेष्ठ




इतनी शक्ति हमें देना दाता
मन का विश्वास कमज़ोर हो ना
हम चले नेक रस्ते पे हमसे
भूलकर भी कोई भूल हो ना
इतनी शक्ति हमें देना दाता...

दूर अज्ञान के हो अंधेरे
तू हमें ज्ञान की रोशनी दे
हर बुराई से बचते रहें हम
जितनी भी दे भली ज़िन्दगी दे
बैर हो ना किसी का किसी से
भावना मन में बदले की हो ना
हम चले नेक रस्ते...

हम ना सोचें हमें क्या मिला है
हम ये सोचे किया क्या है अर्पण
फूल खुशियों के बाँटे सभी को
सबका जीवन ही बन जाए मधुबन
अपनी करुणा का जल तू बहा के
कर दे पावन हर एक मन का कोना
हम चले नेक रस्ते...

पुरुष ग्रंथि (प्रोस्टेट) बढ़ने से मूत्र - बाधा का अचूक इलाज 

*किडनी फेल(गुर्दे खराब ) रोग की जानकारी और उपचार*

गठिया ,घुटनों का दर्द,कमर दर्द ,सायटिका के अचूक उपचार 

गुर्दे की पथरी कितनी भी बड़ी हो ,अचूक हर्बल औषधि




बोलो माँ के जयकारे, मिट जाये संकट सारे



Bolo Maa ke jaikare

Lyrics:बोलो माँ के जयकारे


बोलो माँ के जयकारे, मिट जाये संकट सारे
मिट जाये संकट सारे, भर देगी माँ भंडारे

भर देगी माँ भंडारे, कर देगी वारे न्यारे
कर देगी वारे न्यारे, तुम बोलो रे जयकारे

तुम बोलो रे जयकारे, पहुचेंगे माँ के द्वारे
पहुचेंगे माँ के द्वारे, माँ बैठी राह निहारे

माँ बैठी राह निहारे, बैठी है खोल भंडारे
जो बोलेगा जयकारे, माँ उसके भाग सँवारे

ऊँचे पहाड़ो डेरा माँ का,
पथरीली और कठिन चढाई
मंजिल कट जायेगी यूँही.
मिल कर जयकारे बोलो रे भाई
मिल कर जयकारे बोलो रे भाई

जिसने गाया उसने पाया
जिसने नाम की धुनी लगाई
उसके सब संकट हरती है
पल भर में वैष्णो महामाई
पल भर में वैष्णो महामाई

जरा प्रेम से बोलो, जय माता दी
जरा जोर से बोलो, जय माता दी
अरे मिल के बोलो, जय माता दी
भाई दिल से बोलो, जय माता दी

माँ पार उतारे, जय माता दी
माँ कष्ट निवारे, जय माता दी

मोल ना लगता, जय माता दी
होठो पर सजता, जय माता दी
अरे ताली बजा के, जय माता दी
जरा शीश झुका के, जय माता दी

आते जाते, जय माता दी
तुम करो न बाते, जय माता दी
अरे बोल रे भक्ता, जय माता दी
तेरा कुछ नहीं घटता, जय माता दी

अरे आगे वालो, जय माता दी
पीछे वालो, जय माता दी

माँ शेरा वाली, जय माता दी
माँ मेहरा वाली, जय माता दी
माँ अष्टभुजी है, जय माता दी
क्या खूब सजी है, जय माता दी


माँ आदि भवानी, जय माता दी
माँ जग कल्याणी, जय माता दी
है शेर सवारी, जय माता दी
लगती बड़ी प्यारी, जय माता दी

माँ चक्र धरनी, जय माता दी
कष्ट हारिनी, जय माता दी
सबकी रखवाली, जय माता दी

माँ भोली भली, जय माता दी
माँ वैष्णव रानी, जय माता दी
अम्बे महारानी, जय माता दी

मा देके दर्शन, जय माता दी
कर देगी पावन, जय माता दी

बोलो माँ के जयकारे, मिट जाये संकट सरे
मिट जाये संकट सारे, भर देगी माँ भंडारे

भर देगी माँ भंडारे, कर देगी वारे न्यारे
कर देगी वारे न्यारे, तुम बोलो रे जयकारे

अरे बोलो जय जयकारे, पहुचेंगे माँ के द्वारे
पहुचेंगे माँ के द्वारे, माँ बैठी राह निहारे

माँ बैठी राह निहारे, बैठी है खोल भंडारे
जो बोलेगा जयकारे, माँ उसके भाग सँवारे

ये हाथी मत्था, जय माता दी
भक्तो का जत्था, जय माता दी
लो भवन आ गया, जय माता दी
अब कमी रही क्या, जय माता दी

यहाँ खुल्ले दर्शन, जय माता दी
करते है सब जन, जय माता दी
तुम दर्शन कर लो, जय माता दी
झोली भर लो, जय माता दी

इस गुफा के अन्दर, जय माता दी
बड़ा सोना मंदिर, जय माता दी
है अजब नज़ारा, जय माता दी
है स्वर्ग से प्यारा, जय माता दी

ये तीन पिंडिया, जय माता दी
है तीन शक्तिया, जय माता दी
फिर अंतिम दर्शन, जय माता दी
नयनो का वंदन, जय माता दी

देखो माँ का पवन धाम,
की बनते सब के बिगड़े काम
देखो माँ का पवन धाम,
हां बनते सब के बिगड़े काम
देखो माँ का पवन धाम

पित्त पथरी (gallstone) के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार 

किडनी निष्क्रियता की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि



--

--

नदी किनारे खड़ा है पगले, फिर भी तू है प्यासा



Nadi kinare khada hai pagle

Lyrics: नदी किनारे खड़ा है पगले

नदी किनारे खड़ा है पगले, फिर भी तू है प्यासा
हरी का नाम तो पास है बंदे, फिर क्यूँ छ्चोड़े आशा

इस जग की नदिया में देखो, प्रभु का जल है प्यारा
छल छल कल कल निर्मल है जल, प्रभु सुमिरन की धारा
जीवन की गति आइसो है, जस जल में पड़े बताशा
हरी का नाम तो पास है बंदे, फिर क्यू छ्चोड़े आशा
नदी किनारे खड़ा है पगले, फिर भी तू है प्यासा
हरी का नाम तो पास है बंदे, फिर क्यूँ छ्चोड़े आशा
हरी का नाम तो पास है बंदे, फिर क्यू छ्चोड़े आशा
नदी किनारे खड़ा है पगले, फिर भी तू है प्यासा
हरी का नाम तो पास है बंदे, फिर क्यूँ छ्चोड़े आशा

जल दर्पण तू देख ले मुख को, प्रभु जल ही तंन धोता
निर्मल टन मॅन हो जावयए रे, रोज लगा ले गोता
श्याम दस हरी जल का प्यासा, जीवन टोला मासा

हरी का नाम तो पास है बंदे, फिर क्यू छ्चोड़े आशा
नदी किनारे खड़ा है पगले, फिर भी तू है प्यासा
हरी का नाम तो पास है बंदे, फिर क्यूँ छ्चोड़े आशा

नदी किनारे खड़ा है पगले, फिर भी तू है प्यासा
हरी का नाम तो पास है बंदे, फिर क्यूँ छ्चोड़े आशा
नदी किनारे खड़ा है पगले, फिर भी तू है प्यासा

हरी का नाम तो पास है बंदे, फिर क्यूँ छ्चोड़े आशा

पित्त पथरी (gallstone) के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार 

किडनी निष्क्रियता की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि



-- --

शिव भोला भंडारी/ Arijit singh Bhajan

Shiv Bhola Bhandari

Lyrics:शिव भोला भंडारी


भोला भंडारी, सांई भोला भंडारी
भोला भंडारी, सांई भोला भंडारी

शिव भोला… शिव भोला…

शिव भोला भंडारी, साधु भोला भंडारी
सांई भोला भंडारी, शिव भोला भंडारी

भस्मासुर ने करी तपस्या
वर दे ना त्रिपुरारी
जिसके सिर पर हाथ लगावे
भस्म हुये तन सारी

शिव भोला… शिव भोला…

शिव भोला भंडारी, साधु भोला भंडारी,
सांई भोला भंडारी, शिव भोला भंडारी

शिव के सिर पर हाथ धरन की
मन में दुष्ट विचारी
भागे फिरत चहू दिस शंकर
लगा दैत्य दर भारी


गिरिजा रुप धर हरी हर बोले
बात असुर से प्यारी
जो तू मुझको नाच सिखावे
होऊ नार तुम्हारी

शिव भोला… शिव भोला…

शिव भोला भंडारी, साधु भोला भंडारी,
सांई भोला भंडारी, शिव भोला भंडारी

नाच करत अपने सिर कर धर
भस्म गयो मती मारी
ब्रहृमनन्द दे दे जोई कोई माँगे
शिव भक्तन हितकारी

शिव भोला.. शिव भोला…

शिव भोला भंडारी, साधु भोला भंडारी,
सांई भोला भंडारी, शिव भोला भंडारी

शिव भोला भंडारी, सांई भोला भंडारी
शिव भोला भंडारी, सांई भोला भंडारी

शिव भोला… शिव भोला….

शिव भोला भंडारी,
शिव भोला भंडारी, सांई भोला भंडारी
शिव भोला भंडारी, सांई भोला भंडारी

पित्त पथरी (gallstone) के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार 

किडनी निष्क्रियता की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि



--

अधरं मधुरं वदनं मधुरं नयनं मधुरं हसितं मधुरं .



अधरं मधुरं वदनं मधुरं नयनं मधुरं हसितं मधुरं .

हृदयं मधुरं गमनं मधुरं मधुराधिपतेरखिलं मधुरं .



वचनं मधुरं चरितं मधुरं वसनं मधुरं वलितं मधुरं .

चलितं मधुरं भ्रमितं मधुरं मधुराधिपतेरखिलं मधुरं .



वेणुर्मधुरो रेणुर्मधुरः पाणिर्मधुरः पादौ मधुरौ .

नृत्यं मधुरं सख्यं मधुरं मधुराधिपतेरखिलं मधुरं .



गीतं मधुरं पीतं मधुरं भुक्तं मधुरं सुप्तं मधुरं .

रूपं मधुरं तिलकं मधुरं मधुराधिपतेरखिलं मधुरं .





करणं मधुरं तरणं मधुरं हरणं मधुरं स्मरणं मधुरं .

वमितं मधुरं शमितं मधुरं मधुराधिपतेरखिलं मधुरं .



गुंजा मधुरा माला मधुरा यमुना मधुरा वीची मधुरा .

सलिलं मधुरं कमलं मधुरं मधुराधिपतेरखिलं मधुरं .



गोपी मधुरा लीला मधुरा युक्तं मधुरं मुक्तं मधुरं .

दृष्टं मधुरं शिष्टं मधुरं मधुराधिपतेरखिलं मधुरं .



गोपा मधुरा गावो मधुरा यष्टिर्मधुरा सृष्टिर्मधुरा .

दलितं मधुरं फलितं मधुरं मधुराधिपतेरखिलं मधुरं .


पित्त पथरी (gallstone) के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार 

किडनी निष्क्रियता की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि








जय गणपति वंदन गणनायक



जय गणपति वंदन गणनायक
तेरी छवि अति सुंदर
सुखदायक

तू चारभुजाधारी मस्तक
सिंदूरी रूप निराला
है मूषक वाहन तेरो तू ही
जग का रखवाला
तेरी सुंदर मूरत मन में
तू पालक सिद्ध विनायक
||१||

मन मंदिर का अंधियारा
तेरो नाम से हो उजियारा
तेरे नाम की ज्योति जले
तो मन में बहती सुखधारा
तेरो सुमिरन हर पूजन
में, सबसे पहेले फलदायक
||२||

तेरे नाम को जिसने
ध्याया, उस पर रहती सुख
छाया
मेरे रोम -रोम अंतर में
एक तेरा रूप समाया
तेरी महिमा तू ही जाने,
शिव पार्वती के बालक ||३||


पित्त पथरी (gallstone) के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार 

किडनी निष्क्रियता की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि



मैली चादर ओढ़ के कैसे



मैली चादर ओढ़ के कैसे,
द्वार तुम्हारे आऊँ।

मैली चादर ओढ़ के कैसे,
द्वार तुम्हारे आऊँ।

हे पावन परमेश्वर मेरे,
मन ही मन शरमाऊँ॥

मैली चादर ओढ़ के कैसे,
द्वार तुम्हारे आऊँ।

मैली चादर ओढ़ के कैसे
तूमने मुझको जग में
भेजा,

निर्मल देकर काया।
आकर के संसार में मैंने,

इसको दाग लगाया।
जनम् जनम् की मैली चादर,

कैसे दाग छुड़ाऊं॥
मैली चादर ओढ़ के कैसे,

द्वार तुम्हारे आऊँ।
मैली चादर ओढ़ के कैसे...
निर्मल वाणी पाकर
तुझसे,

नाम न तेरा गाया।
नैन मूंदकर हे
परमेश्वर,

कभी ना तुझको. ध्याया।
मन वीणा की तारें टूटी,

अब क्या गीत सुनाऊँ॥
मैली चादर ओढ़ के कैसे,

द्वार तुम्हारे आऊँ।
मैली चादर ओढ़ के कैसे...
इन पैरों से चल कर तेरे,

मंदिर कभी न आया।
जहां जहां हो पूजा तेरी,
कभी ना शीश झुकाया।
हे हरिहर मैं हार के आया,
अब क्या हार चढाऊँ
मैली चादर ओढ़ के कैसे,
द्वार तुम्हारे आऊँ।
मैली चादर ओढ़ के कैसे
द्वार तुम्हारे आऊँ।।
हे पावन परमेश्वर मेरे,
मन ही मन ध्याऊं।
मैली चादर ओढ़ के कैसे,
मैली चादर ओढ़ के कैसे।


पित्त पथरी (gallstone) के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार 

किडनी निष्क्रियता की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि



राधिका गोरी से, बिरज की छोरी से


राधिका गोरी से, बिरज की
छोरी से
मैया करादे मेरो ब्याह
(राधिका गोरी से, बिरज की
छोरी से)
(मैया करादे मेरो ब्याह)
अरे ये बंधन है प्यार का

उमर तेरी छोटी है, नजर
तेरी खोटी है
कैसे करा दु तेरो ब्याह
(उमर तेरी छोटी है, नजर
तेरी खोटी है)
(कैसे करा दु तेरो ब्याह)
अरे ये बंधन है प्यार का

राधिका गोरी से, बिरज की
छोरी से
मैया करादे मेरो ब्याह

जो नही ब्याह करावे
तेरी गैया नाही चराऊ
(जो नही ब्याह कराये
तेरी गैया नाही चराऊ)
आज के बाद ओ मैया तेरी
देहरी पर नहीं आऊ
आयेगा रे मजा, रे मजा अब
जीत हार का

राधिका गोरी से, बिरज की
छोरी से
मैया करादे मेरो ब्याह
उमर तेरी छोटी है, नजर
तेरी खोटी है
कैसे करा दु तेरो ब्याह

चंदन की चौकी पर मैया
तुज को बैठाऊं
(चंदन की चौकी पर मैया
तुज को बैठाऊं)
अपनी राधिका से मै चरण
त्तोरे दबवाऊं
भोजन मै बनवाऊँगा,
बनवाऊँगा छत्तीस
प्रकार का

राधिका गोरी से, बिरज की
छोरी से
मैया करादे मेरो ब्याह
उमर तेरी छोटी है, नजर
तेरी खोटी है
कैसे करा दु तेरो ब्याह

छोटी सी दुल्हनिया जब
अंगना में डोलेगी
(छोटी सी दुल्हनिया जब
अंगना में डोलेगी)
तेरे सामने मैया वो
घूँघट ना खोलेगी
दाऊ से जा कहो, जा कहो
बैठेंगे द्वार पे

राधिका गोरी से, बिरज की
छोरी से
मैया करादे मेरो ब्याह
(राधिका गोरी से, बिरज की
छोरी से)
(मैया करादे मेरो ब्याह)



पित्त पथरी (gallstone) के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार 

किडनी निष्क्रियता की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि



मैंने जो देखा श्याम को दीवाना हो गया,



मैंने जो देखा श्याम को दीवाना हो गया,

मुरली की तन सुन के मैं मस्ताना हो गया,

मैंने जो देखा श्याम को दीवाना हो गया,

एह सँवारे सलोने तेरी अदा पे मैं,

तेरे हुसन का दीवाना मस्ताना हो गया,

मैंने जो देखा श्याम को दीवाना हो गया,

दिल में सलोनी संवरी सूरत समा गई,

होठो पे श्याम नाम का अफसाना हो गया,

मैंने जो देखा श्याम को दीवाना हो गया,

प्यारी छवि निहार के पागल ही हो गया,

दुनिया को भूल बैठा हु बेगाना हो गया

मैंने जो देखा श्याम को दीवाना हो गया,


किडनी फेल (गुर्दे खराब) की अमृत औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि 

आर्थराइटिस(संधिवात)के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार